संगठित होने से ही ब्राह्मण समाज का सामाजिक, राजनैतिक और आर्थिक क्षेत्र में विकास हो सकता है : रामचरण बोहरा - Pinkcity News

Breaking News

Monday, 5 April 2021

संगठित होने से ही ब्राह्मण समाज का सामाजिक, राजनैतिक और आर्थिक क्षेत्र में विकास हो सकता है : रामचरण बोहरा

  • दूसरे के दर्द को महसूस करेंगे तो हमारी एकता को कोई नहीं रोक सकता : डाॅ. महेश जोशी
  • संगठन में ही शक्ति होती है इसलिए जब भी अपने समाज की बात आए तो सभी को संगठित होना चाहिए : डाॅ. अरूण चतुर्वेदी
  • माला का महत्व मोतियों के इकट्ठे होने से होता है और समाज का व्यक्यिों के इकट्ठे होने से : सुनील तिवाड़ी



जयपुर
। ब्राह्मणों के प्रगतिशील संगठन विप्र सेना द्वारा जयपुर में संगठन की विद्याधर नगर विधानसभा इकाई द्वारा विप्र पंचायत प्रथम का आयोजन किया गया। इस अवसर पर विभिन्न राजनीतिक एवं सामाजिक संगठनों के पदाधिकारी मौजूद रहे।राजस्थान सरकार के मुख्य सचेतक डॉ महेश जोशी, जयपुर सांसद  रामचरण बोहरा, पूर्व केबिनेट मंत्री एवं पूर्व भाजपा प्रदेश अध्यक्ष डॉ अरुण चतुर्वेदी ने कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में शिरकत की। साथ ही चौमूं से विधायक  रामलाल शर्मा, मसूदा विधायक  राकेश पारीक, भाजपा के प्रदेश उपाध्यक्ष  मुकेश दाधीच एवं सांगानेर के जन सेवक  पुष्पेंद्र भारद्वाज ने विशिष्ट अतिथि के रूप में भागीदारी अदा की। 

विप्र सेना को ब्राह्मण विद्यार्थियों की छात्रवृत्ति के लिए 51 लाख रुपये ललित मोहन शर्मा ने दिए। इसी तरह 11 लाख रूपए नंदलाल तिवाड़ी और 5 महेश शर्मा उड़ीसा ने भी देने की घोषणा की।

 इस अवसर पर जयपुर शहर सांसद रामचरण बोहरा ने कहा कि ब्राह्मण समाज को संगठित होने की आवष्यकता है क्योंकि संगठित होने से ही सामाजिक, आर्थिक और राजनैतिक क्षेत्र में विकास हो सकता है। समाज के लोग भले ही अलग-अलग बैनर के नीचे काम कर रहें हो लेकिन जहां पर समाज की बात आए वहां सभी को संगठित होकर काम करना चाहिए।

 मुख्य सचेतक महेश जोशी ने विप्र पंचायत को संबोधित करते हुए कहा कि जब हम एक दूसरे के दर्द को महसूस करेंगे तो हमारी एकता को कोई नहीं रोक सकता। समाज के किसी व्यक्ति के दुख दर्द में सहायता के लिए हमें हमेषा तैयार रहना चाहिए। पूर्व मंत्री अरूण चतुर्वेदी ने कहा कि संगठन में ही शक्ति होती है इसलिए जब भी अपने समाज की बात आए तो सभी को संगठित होना चाहिए। विप्र सेना प्रमुख सुनील तिवाड़ी ने कहा कि संगठन से अलग व्यक्ति का कोई मोल नहीं है जिस प्रकार माला का महत्व मोतियों के इकट्ठे होने से ही होता है ठीक उसी प्रकार सभी लोगों के इकट्ठे होने से ही समाज का महत्व होता है और जब समाज का महत्व होगा तो समाज के व्यक्तियों का भी महत्व होगा। 

इस अवसर पर भाजपा के उपाध्यक्ष मुकेश दाधीच ने कहा कि आर्थिक, सामाजिक एवं राजनीतिक रूप से समाज तभी मजबूत होगा जब समाज ब्राह्मण पुजारी की रक्षा के लिए कर्तव्यनिष्ठ रहेगा। इसी कड़ी में विप्र सेना ने पुजारियों को मजबूत करने के लिए विप्र संबल योजना चलाई है, वास्तव में यह ब्राह्मण समाज के लिए एक प्रशंसनीय कदम है।

  संगठन के राजस्थान प्रदेश अध्यक्ष श्री दिनेश दादिया ने संगठन की संरचना, गत आठ माह में आठ से अधिक राज्य में हुए संगठन के विस्तार एवं संगठन की बूथ स्तर पर गठित की गई कार्यकारिणी के बारे में बताया। दादिया ने बताया कि विप्र पंचायत जयपुर की सभी नौ विधानसभाओं में आयोजित की जाएगी। इन पंचायतों का मुख्य उद्देश्य होगा, भारतीय राजनीति में ब्राह्मणों की जगह सुनिश्चित करना। 

कार्यक्रम का मुख्य आकर्षण रहा संगठन द्वारा शुरू की गई एक अनूठी योजना - विप्र संबल, जिसके अंतर्गत जयपुर के 900 छोटे मंदिरों को संगठन द्वारा नकद आर्थिक सहायता प्रदान करना तय किया गया। मुख्य अतिथियों द्वारा शॉल ओढ़ा कर विद्याधर नगर विधानसभा में स्थित 25 छोटे मंदिरों के पुजारियों को नकद आर्थिक सहायता प्रदान की गई। 

विप्र सेना के राष्ट्रीय प्रमुख पंडित सुनिल तिवाड़ी की मौजूदगी में ही आज संगठन द्वारा राष्ट्रीय संगठन मंत्री का दायित्व सीकर भाजपा के पूर्व जिलाध्यक्ष श्री महेश शर्मा जी को सौंपा गया, साथ ही संगठन के युवा प्रकोष्ठ की शुभ शुरुआत आज राजस्थान प्रदेश अध्यक्ष का दायित्व  रवि जोशी को सौंप कर की गई। इस मौके पर राष्ट्रीय प्रवक्ता  अनिल तिवाड़ी, राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य डॉक्टर राजेश मिश्रा, राजस्थान प्रदेश संगठन महामंत्री डॉक्टर जितेंद्र शर्मा, जयपुर जिलाध्यक्ष  राजकुमार शर्मा,  अजीत जोशी,  रवि शर्मा,  रामबाबू जोशी,  दीपक शर्मा,  दीपेंद्र दीक्षित एवं अन्य पदाधिकारगण उपस्थित रहे।



No comments:

Post a Comment

Pages