जगद्गुरु स्वामी रामानुजाचार्यजयंती आज-घर-घर में होंगे आयोजन - Pinkcity News

Breaking News

Monday, 27 April 2020

जगद्गुरु स्वामी रामानुजाचार्यजयंती आज-घर-घर में होंगे आयोजन


श्री मन्न नारायण प्रन्यास मण्डल ने किया घर में पूजा-अर्चना का आह्वान
जयपुर। जगद्गुरु स्वामी रामानुजाचार्य की जयंती मंगलवार को छोटीकाशी के विभिन्न मंदिरों में सादगीपूर्वक मनाई जाएगी। श्री मन्न नारायण प्रन्यास मण्डल के अध्यक्ष महामंडलेश्वर पुरुषोत्तम भारती ने बताया कि छोटी काशी में निवास कर रहे रामानुज संप्रदाय के श्रद्धालु घरों में ही जगद्गुरु स्वामी रामानुजार्य महाराज के चित्रपट की पूजा-अर्चना कर आरती उतारेंगे।
 भारती ने बताया कि रामानुज संप्रदाय के सभी मंदिरों में संक्षिप्त रूप में पूजा-अर्चना-श्रृंगार-भोग-आरती के आयोजन होंगे। इसके साथ ही दस दिवसीय जयंती महोत्सव का विश्राम होगा। लॉकडाउन और कफ्र्यू के कारण जयंती उत्सव में मंदिर परिसर में निवास कर रहे साधु-संत और सेवक ही शामिल होंगे। उत्तर भारत की प्रमुख श्री वैष्णव पीठ श्री गलताजी में गलता पीठाधीश्वर स्वामी अवधेशाचार्य महाराज के सान्निध्य में  रामानुजाचार्यजी के प्राचीन मूल विग्रह का वैदिक विधि से मंत्रोच्चरण के साथ पंचामृत, पंचमेवा, फलों के रस, पंचद्रव्यों, सर्वोषधि से अभिषेक के बाद सहस्त्रधारा की जाएगी। विद्वान दिव्य प्रबंध और स्तोत्र पाठ  सस्वर वाचन करेंगे। लक्ष्मीनारायणपुरी स्थित लक्ष्मीनारायण जी  मंदिर में महंत त्रिविक्रमाचार्य के सान्निध्य में सुबह दस बजे शेषावतार श्रीरामानुज स्वामीजी महाराज का विभिन्न द्रव्यों से तिरुमंजन होगा। शाम 5 बजे मंदिर परिसर में ही श्रीरामानुज स्वामीजी की शोभायात्रा निकाली जाएगी। साथ ही स्तोत्र औऱ पाठ, भजन भी होंगे।
त्रिविक्रमाचार्य  महाराज ने बताया कि इस अवसर पर कोरोना वायरस के प्रकोप से होने वाली हानियों से बचाव तथा सभी के उन्नत स्वास्थ्य की कामना की जाएगी। रामानुज मार्ग, गंगापोल बाहर स्थित प्राचीन मंदिर श्री मुरली मनोहरजी  में  रामानुजाचार्य जयंती और शंकराचार्य जयंती महोत्सव स्वामी राघवेंद्राचार्य महाराज के सान्निध्य में मनाया जाएगा। इस अवसर पर विशेष प्रार्थना का आयोजन किया जाएगा। श्रद्धालु साधक अपने निवास स्थान पर लॉक डाउन का पूर्णत: पालन करते हुए मानसिक रूप से ही आयोजन में सहभागिता करेंगे। कीर्ति नारायण शर्मा बताया कि 28 अप्रेल को दोपहर 12 बजे एकांतिक रूप में तिरुमंजन और आरती होगी। हवन में विशेष मंत्रों के साथ आहुतियां अर्पित कर कोरोना वायरस से विश्व को मुक्त करने की प्रार्थना की जाएगी।

No comments:

Post a comment

Pages