आईएएस संजय दीक्षित लिखित "श्री कृष्ण योगेशवर" डाइस ऑफ़ कुटिल धर्मा का हुआ विमोचन - Pinkcity News

Breaking News

Saturday, 18 January 2020

आईएएस संजय दीक्षित लिखित "श्री कृष्ण योगेशवर" डाइस ऑफ़ कुटिल धर्मा का हुआ विमोचन

भारतीय इतिहास और जीवन पद्धति जीवंत और शाश्वत है : आरिफ मोहम्मद खान 
महाभारत, रामायण और ऋग्वेद का इतिहास 21 हजार साल पुराना : नीलेश नीलकंठ
 जयपुर । द जयपुर डायलॉग्स एवं सुरेश ज्ञान विहार यूनिवर्सिटी जगतपुरा के सहयोग से काल बोध (भारतीय काल क्रम )  "रामायण और महाभारत युग का समय निर्धारण एवं इसका आर्यन आक्रमण सिद्धांत पर प्रभाव " विषय पर एक दिवसीय संगोष्ठी का आयोजन हुआ जिसमें केरल के राज्यपाल आरिफ मोहम्मद खान ने कहा कि ज्ञान,  आध्यात्म,  आस्था,  साहित्य, संस्कृति और भारतीय जीवन शैली के आधार पर सनातन काल से हमारा भारत वर्ष सम्पूर्ण विश्व पटल पर स्थापित रहा है और भारतीय इतिहास का चरित्र जीवंत और शाश्वत है उन्होंने कहा कि ईरानी, रोमन और चाइना की जीवन पद्धत्ति भौतिक सुख सुविधाओं,  सौंदर्य , और शान शौकत  पर केंद्रित है जबकि भारतीय संस्कृति ज्ञान और अध्यात्म से परिपूर्ण है अतः हमें ज्ञान आधारित जीवन से युक्त जीवन जीकर विश्व के कल्याण के लिए कार्य करना चाहिए और स्वामी विवेकानंद का उदाहरण जगजाहिर है ।
संगोष्ठी के मुख्य वक्ता नीलेश नीलकंठ ओक ( स्कूल ऑफ इंडिक स्टडीज डॉर्टमथ अमेरिका ) ने रामायण और महाभारत युग का समय निर्धारण एवं इसका आर्यन आक्रमण सिद्धांत पर प्रभाव " विषय पर बोलते हुए  कहा कि महाभारत, रामायण और ऋग्वेद का इतिहास इक्कीस हजार साल पुराना है जिसे प्रमाणिकता के साथ पढ़ा और समझा जा सकता है
उन्होंने कहा कि तुलसीदास कृत रामचरित मानस में भक्ति रस की प्रधानता है  जबकि वाल्मीकि रामायण में सभी प्रकार के भावों की प्रधानता है  नीलेश नीलकंठ ने महाभारत, वाल्मीकि रामायण और ऋग्वेद के इतिहास पर विशेष व्याख्यान दिया इस अवसर पर प्रश्नोत्तरी कार्यक्रम भी हुआ जिसमें नीलेश नीलखंड ओक ने सभी प्रश्नकर्ताओं की जिज्ञासाओं को शांत किया  ।
इस अवसर पर जयपुर डायलॉग फोरम के चेयरमेन और  सीनियर आईएएस संजय दीक्षित ने कहा कि भारत का इतिहास वो नहीं है जो नई पीढी को पढाया जाता है बल्कि सच्चाई से नई पीढ़ी कोसों दूर है अतः अभिभावकों को सजग और सक्रिय होकर नई पीढ़ी को सही ज्ञान करवाना आवश्यक है इसलिए हमें सच्चाई की तह तक जाना अति आवश्यक है  इस मौक़े पर केरल के राज्यपाल आरिफ मोहम्मद खान एवं अन्य अतिथियों ने सीनियर आईएएस संजय दीक्षित लिखित पुस्तक " कृष्ण योगेश्वर -डाइस ऑफ़ कुटिल धर्मा  " का विमोचन किया । इस मोके पर ज्ञानविहार यूनिवर्सिटी के चेयरमेन सुनील शर्मा, जयपुर डायलॉग फोरम के प्रेसिडेंट सुनील कोठारी,  सचिव पंकज जोशी ने भी सम्बोधित किया और  मुख्य कार्यकारी अधिकारी प्रकाश टेकवानी , संयुक्त सचिव राजकुमार शर्मा  सहित कई पदाधिकारी और शहर के गणमान्य लोग मौजूद रहे ।

No comments:

Post a Comment

Pages