जयपुरिया अस्पताल में क्यू मैनेजमेंट सिस्टम के लिए किए जाएंगे प्रस्ताव आमंत्रित : कलक्टर - Pinkcity News

Breaking News

Saturday, 18 January 2020

जयपुरिया अस्पताल में क्यू मैनेजमेंट सिस्टम के लिए किए जाएंगे प्रस्ताव आमंत्रित : कलक्टर

  • अग्नि सुरक्षा के लिए 24 घंटे सिविल डिफेंस कर्मियों की सेवाएं लेने का निर्णय
जयपुर, 18 जनवरी। जिला कलक्टर एवं मेडिकल रिलीफ सोसायटी, जयपुरिया अस्पताल के अध्यक्ष डाॅ.जोगाराम की अध्यक्षता में शनिवार को हुई सोसायटी की बैठक में जयपुरिया अस्पताल के आउटडोर में आने वाले मरीजों की सुविधा के लिए क्यू मेनेजमेंट सिस्टम स्थापित करने, हाॅस्पिटल में अग्नि सुरक्षा के लिए राउण्ड द क्लाॅक कार्मिक लगाने एवं आॅक्सीजन की निर्बाध आपूर्ति सुनिष्चित रखने जैसे निर्णय किए गए। डाॅ.जोगाराम ने शनिवार को अस्पताल के शिशु रोग वार्ड, महिला रोगी वार्ड, आॅपरेषन थिएटर्स, आईसीयू एवं अन्य वार्डों का निरीक्षण भी किया।
जिला कलक्टर ने शनिवार को जयपुरिया अस्पताल में मेडिकल रिलीफ सोसायटी की बैठक की अध्यक्षता करते हुए चिकित्सालय भवन की मरम्मत, रखरखाव एवं प्रबन्धन से जुडे़ विभिन्न विषयों पर महत्वपूर्ण निर्णय किए। उन्होंने कहा कि अस्पताल की ओपीडी मंे आने वाले करीब 3 हजार मरीजों को उनकी बारी आने में लगने वाले समय की जानकारी दिए जाने की जरूरत है। इसके लिए सवाई मानसिंह अस्पताल के साथ ही बैंकिंग सेक्टर में अपनाए जा रहे सिस्टम का अध्ययन किया जाए एवं इसे जयपुरिया अस्पताल के अनुरूप ढाला जाए। उन्होंने इसके लिए इच्छित फर्मों से प्रस्ताव आमंत्रित करने के लिए निर्देषित किया।
डाॅ.जोगाराम ने अस्पताल में फायर फाइटिंग तंत्र को मजबूत करने और नागरिक सुरक्षा से 4 कार्मिकों को राउण्ड द क्लाॅक अस्पताल में नियोजित करने के निर्देष दिए। बैठक में चिकित्सालय की एबीजी मषीन का संचालन एसएमएस अस्पताल के माॅडल पर करने, ग्राउण्ड वाटर टेंक की मरम्मत, विद्युत सब स्टेषन के वार्षिक प्रबन्धन के काॅन्टेªट, लिफ्ट के रखरखाव के लिए रेट कांटेªक्ट किए जाने, अस्पताल के लेखों के प्रबन्धन, ब्लड बैंक मषीनरी की एएमएसी, एमआरएस से आॅक्सीजन गैस आपूर्ति भुगतान जैसे विभिन्न विषयोें का अनुमोदन एवं निर्णय किए गए।
एमआरएस अध्यक्ष ने निर्देष दिए कि बजट की उपलब्धता के आधार  पर अस्पताल में आवष्यकतानुसार रंग-पेंट एवं मरम्मत का कार्य अविलम्ब कराया जाए। अस्पताल की अधीक्षक डाॅ.रेखा सिंह ने बताया कि अब जयपुरिया अस्पताल में भी बघिर मरीजों को लगाए जाने वाले काॅक्लीयर इम्प्लांट की सुविधा प्रारम्भ कर दी गई है। अस्पताल में शुक्रवार से ही इसके मरीजों को देखना प्रारम्भ किया गया है। अभी एसएमएस  अस्पताल के विषेषज्ञ ही इसके लिए यहां सेवाएं दे रहे हैं। बैठक में उप नियंत्रक डाॅ. राकेष हीरावत एवं समिति के अन्य सदस्य शामिल हुए।



No comments:

Post a Comment

Pages