दंतरोग विशेषज्ञों ने बैसल इम्लांट के नए वर्जन, डिजाइन, कॉम्प्लीकेशन्स की दी जानकारी - Pinkcity News

Breaking News

Saturday, 14 December 2019

दंतरोग विशेषज्ञों ने बैसल इम्लांट के नए वर्जन, डिजाइन, कॉम्प्लीकेशन्स की दी जानकारी

 कॉर्टिको-बैसल इम्प्लेंटोलॉजी पर कॉन्फ्रेंस का दूसरा दिन : -देशभर के करीब 200 से अधिक दंतरोग विशेषज्ञ कर रहे मंथन
जयपुर, 14 दिसम्बर। सोसायटी फॉर इमिजिएट लॉडिंग इम्प्लेंटोलॉजी की ओर से होटल क्लार्क्स आमेर में चल रही तीन दिवसीय कॉर्टिको-बैसल इम्प्लेंटोलॉजी विषयक नेशनल डेंटिस्ट कान्फ्रेंस के दूसरे दिन शनिवार को 23 सेशन के दौरान अनेक दंतरोग विशेषज्ञों ने बैसल इम्लांट के नए वर्जन, डिजाइन, कॉम्प्लीकेशन्स और जबड़ों की नसों के बारे में महत्वपूर्ण जानकारियां दीं।
 डॉ.पुनीत भार्गव ने बताया कि दो दिन से देश के कोने-कोने से  करीब 250 से अधिक दंतरोग विशेषज्ञ बैसल इम्लांट पर गहन मंथन कर रहे हैं। डॉ.नीलम माहेश्वरी ने बैसल की डिजाइन और उसकी खूबियों के बारे में बताया।  डॉ.अनिता दोषी ने बैसल के नए वर्जन में अब ऊपर के जबड़ों में बिना किसी नुकसान के बैसल इम्लांट किया जा सकता है। डॉ.संकल्प मित्तल ने जबड़ों की नसों के बारे में उपयोगी जानकारी दी। उन्होंने नर्व इंजरी से बचने के उपाए बताए।
 डॉ. नैन्सी धीमान ने बताया कि जबड़ों की कौन-कौनसी जगहों पर बैसल इम्लांट किया जा सकता है ताकि मरीज को तुरंत को आराम मिले सके।  डॉ.सैयद अकीफुद्दीन ने बताया कि  मरीज को बैसल संबंधी उतनी ही जानकारी दी जानी चाहिए जितनी जरूरी होती है ताकि कानूनी पचड़े से बचा जा सके। डॉ.चन्द्रहास बैतिनी ने एक्स-रे के रोल के बारे बताया कि कौन-कौनसे एक्स-रे किए जाने चाहिए। डॉ. प्रशांथा पिलैई ने बैसल इम्लांट के  सही तरीके के बारे में विचार रखे। डॉ. राहुल वैद ने जबड़े की कौनसी  हड्डियों में बैसल इम्लांट किया जाना चाहिए। डॉ.कपिल कालरा ने बताया कि कॉर्टिको-बैसल इम्लांट के बाद ग्राफिट और पैरा इम्लांटटाइटिस जैसे दंत रोगों से बचा जा सकता है। डॉ.अनीश तलवार ने बताया कि चर्चा में डॉ.लीला कृष्णा, डॉ.रोहित यादव, डॉ.बॉबी एंटोनी और डॉ. मेहुल जैनी जानी ने भी दंत संबंधी उपयोगी जानकारी दी।

No comments:

Post a comment

Pages