डॉ. अतुल गुप्ता को मिली एग्रीकल्चर साइंस में मानद उपाधि, नेशनल अमेरिकन यूनिवर्सिटी ने सम्मानित किया - Pinkcity News

Breaking News

Monday, 18 November 2019

डॉ. अतुल गुप्ता को मिली एग्रीकल्चर साइंस में मानद उपाधि, नेशनल अमेरिकन यूनिवर्सिटी ने सम्मानित किया

  • पाश्र्व गायक अनु मलिक को भी गायकी में मिली उपाधि
जयपुर। ऑर्गेनिक व मेडिसिनल प्लांट्स की खेती में उत्कृष्ट कार्यों के लिए हैनिमेन चैरिटेबल मिशन सोसाइटी के अध्यक्ष व सनराइज एग्रीलैंड एण्ड डवलपमेंट रिसर्च प्रा.लि., जयपुर के डायरेक्टर डॉ. अतुल गुप्ता को नेशनल अमेरिकन यूनिवर्सिटी ने मानद उपाधि से नवाजा है। डॉ. अतुल गुप्ता राजस्थान ही नहीं बल्कि देश में ऐसे पहले व्यक्ति हैं जिन्हें वर्ष 2019 में जैविक खेती के लिए यह मानद उपाधि दी गई है।
 विभिन्न क्षेत्रों में भारत के कुल 12 जनों को नेशनल अमेरिकन यूनिवर्सिटी, रेपिड सिटी, साउथ डाकोटा अमेरिका ने एग्रीकल्चर साइंस में मानद उपाधि से सम्मानित किया है। इनमें मुख्य रूप से पाश्र्व गायक अनु मलिक भी शामिल हैं, जिन्हें गायकी में यह उपाधि प्रदान की गई है। नईदिल्ली के रूसी दूतावास में रसियन सेंटर ऑफ साइंस एण्ड कल्चर, एबेंसी ऑफ रसियन फैडरेशन की ओर से आयोजित ‘वल्र्ड वाइड इम्पेक्ट अवार्ड्स-2019’ समारोह में सम्मानित किया गया।
गौरतलब है कि इन अवार्ड्स के लिए विभिन्न क्षेत्रों से करीब 250 से अधिक लोगों ने आवेदन किये थे, जिनमें से 12 जनों को अलग-अलग क्षेत्र के लिए मानद उपाधियां दी गई हैं। इनमें से राजस्थान से एकमात्र व्यक्ति डॉ. अतुल गुप्ता को एग्रीकल्चर साइंस में मानद उपाधि से नवाजा गया है।

इन्हें भी विभिन्न क्षेत्रों में मिली मानद उपाधियां
नेशनल अमेरिकन यूनिवर्सिटी की ओर से आयोजित समारोह में पाश्र्व गायक अनु मलिक, जयपुर के डॉ. अतुल गुप्ता के अलावा प्रो. डॉ. आनंद शुक्ला, खुशाल किशोर दुबे, मनोज कुमार सिंह, मोनिका गर्ग, नरेशचंद्र गोयल, नवनीत जे. कृष्णा, डॉ. रोहित कुमार, डॉ. संजीव बाघी, डॉ. सुषमा अग्रवाल, स्वामी सचिदानंद तीर्थ को भी मानद उपाधि से नवाजा गया।

डॉ. अतुल गुप्ता के बारे में-
हैनिमेन चैरिटेबल मिशन सोसाइटी के अध्यक्ष, सनराइज एग्रीलैंड एण्ड डवलपमेंट रिसर्च प्रा.लि. जयपुर के डायरेक्टर तथा राजस्थान मेडिसिनल प्लांट्स बोर्ड, जयपुर के सदस्य डॉ. अतुल गुप्ता पिछले करीब 11 वर्ष से ऑर्गेनिक व मेडिसिनल प्लांट्स की खेती को बढ़ावा देने के लिए प्रयासरत हैं। उन्होंने अब तक 10 हजार किसानों को जैविक खेती का प्रशिक्षण दे चुके हैं। इसके अलावा डॉ. गुप्ता राजस्थान में औषधीय खेती को बढ़ावा देने के लिए 100 इंटरप्रिन्योर तैयार कर चुके हैं। साथ उन्होंने गाय के गोबर की लकड़ी को बढ़ावा देने, जैविक खाद बनाने, गाय के गोबर से निर्मित इको-फ्रेंडली गमलों का चलन बढ़ाने के लिए व्यापक स्तर पर अभियान चला रखा है। डॉ. अतुल गुप्ता ने देश में लुप्त हो रही औषधीय प्रजातियों के संरक्षण व संवर्धन के लिए जयपुर की श्रीपिंजरापोल गोशाला परिसर में ही देश का सबसे बड़ा 162 एकड़ भूमि में सनराइज ऑर्गेनिक पार्क स्थापित किया है। इसके अलावा डॉ. अतुल गुप्ता जैविक व औषधीय फसलों की खेती, औषधीय व जैविक उत्पादों के निर्माण, मार्केटिंग की ट्रेनिंग के लिए विश्व की एकमात्र संस्था-अंतरराष्ट्रीय उन्नत कृषि कौशल विकास संस्थान (आईआईएएएसडी) संचालित कर रहे हैं, जहां देशभर के युवा किसान हर माह प्रशिक्षण के लिए यहां आते हैं।

No comments:

Post a comment

Pages