जेकेके में 24 नवंबर से आरम्भ होगा ‘डिवाइन कार्ड्स‘ म्यूजिक फेस्टिवल, वुमनिया बैंड की प्रस्तुति होगी - Pinkcity News

Breaking News

Saturday, 23 November 2019

जेकेके में 24 नवंबर से आरम्भ होगा ‘डिवाइन कार्ड्स‘ म्यूजिक फेस्टिवल, वुमनिया बैंड की प्रस्तुति होगी

  •  सोमवार, 25 नवंबर को अनुपमा भागवत का होगा सितार वादन
  •  मंगलवार, 26 नवंबर को इनडिवा बैंड वादन
  •  बुधवार, 27 नवंबर को स्त्री शक्ति बैंड की प्रस्तुति

जयपुर, 23 नवंबर। जवाहर कला केंद्र में 24 से 27 नवंबर तक मध्यवर्ती में चार दिवसीय म्यूजिक फेस्टिवल ‘डिवाइन कॉर्ड्स‘ आयोजित होगा। इसमें  रोजाना शाम 6.30 बजे महिलाओं के प्रसिद्ध बैंड प्रस्तुति देंगे। फेस्टिवल में संगीत प्रेमियों को ड्रम, गिटार, तबला एवं सितार पर विभिन्न इलेक्ट्रीफाइंग म्यूजिकल परफॉरमेंस सुनने को मिलेगी। इस फेस्टिवल में आगंतुकों का प्रवेश निःशुल्क रहेगा।

रविवार, 24 नवंबर को वुमनिया बैंड द्वारा बॉलीवुड, लोक एवं सूफी प्रस्तुतिः
रविवार, 24 नवंबर को उत्तराखंड के वुमनिया बैंड‘ की प्रस्तुति के साथ इस फेस्टिवल की शुरूआत होगी। देश में महिलाओं के प्रति हो रहे अपराधों के बारे में जागरूकता लाने के उद्देश्य से वुमनिया बैंड की शुरूआत की गई थी। गीतों के जरिए परिवर्तन लाने का बैंड का प्रयास है। इसका उद्देश्य ऐसा माहौल बनाना है, जहां महिलाओं की आवाज को सुना जाए और इस पर ध्यान दिया जाए। बैंड को बॉलीवुड, लोक एवं सूफी तीनों शैली में महारथ हासिल है। बैंड के सदस्यों में स्वाति (मुख्य गायिका), श्रीविद्या (ड्रम्स), आयुषी (मुख्य गिटार वादक), शाकम्भरी (बैस गिटार) और कोमल (रिदम गिटार) हैं।

 
सोमवार, 25 नवंबर को अनुपमा भागवत देंगी सितार वादन की प्रस्तुतिः
बेंगलूरु की सितार वादक, अनुपमा भागवत द्वारा सोमवार, 25 नवंबर को प्रस्तुति दी जाएगी। उनके साथ तबले पर सावनी तलवलकर और पखावज पर महिमा उपाध्याय होंगी। अनुपमा ने सितार वादन की अपनी अनोखी शैली से भारतीय शास्त्रीय संगीत में अपना विशेष स्थान बनाया है। उन्होंने 9 वर्ष की आयु से श्री आर. एन. वर्मा से सितार वादन सीखा और 13 वर्ष की उम्र में उन्हें इमदादखानी घराने के आचार्य बिमलेंदु मुखर्जी से सितार वादन का प्रशिक्षण प्राप्त करने का सम्मान प्राप्त हुआ। वर्ष 1995 से देश-विदेश में दी गई उनकी अनेक शानदार प्रस्तुतियां दी है। उन्हें 1995 में सुर श्रृंगार संसद, बॉम्बे की ओर से ‘सुरमणी‘ से सम्मानित किया गया है। इसके अलावा उन्होंने ऑल इंडिया रेडियो (एआईआर) म्यूजिक कॉम्पटिशन (1994) जीता है।

 
मंगलवार, 26 नवंबर को इनडिवा बैंड द्वारा मल्टीलिंग्वल फोक फ्यूजन म्यूजिक की होगी प्रस्तुतिः
मंगलवार, 26 नवंबर को मुंबई के इनडिवा बैंड की परफॉर्मेंस होगी। विभिन्न संगीत शैलियों एवं परम्पराओं से युक्त इस बैंड की सदस्य अपने संगीत कौशल से मल्टीलिंग्वल फोक फ्यूजन म्यूजिक पेश करेंगी। इस बैंड के सदस्यों में मर्लिन डिसूजा (कीबोर्ड), श्रुति भावे (वॉयलिन एवं गायन), चंदाना बाला कल्याण (गायन), शाजनीन अरेथान (गायन एवं उकलेले), मिताली विंचुरकर (तबला एवं पर्कशन) और अदिति भागवत (कथक) शामिल हैं। इस बैंड द्वारा काला घोड़ा आर्ट्स फेस्टिवल (मुंबई), द स्टॉर्म (बैंगलुरू) बोल्ड टॉक्स कॉन्फ्रेंस (दुबई) सहित अनेक प्रतिष्ठित संगीत समारोहों में प्रस्तुति दी जा चुकी है।

 
बुधवार, 27 नवंबर को तबला वादक अनुराधा पाल एवं ग्रुप ‘स्त्री शक्ति बैंड‘ देगा प्रस्तुतिः
चार फेस्टिवल के अंतिम दिन बुधवार, 27 नवंबर को मुंबई की बहुआयामी तबला वादक अनुराधा पाल के स्त्री शक्ति बैंड की पावर पैक पर्कशन प्रस्तुति दी जाएगी। लय, ताल और गीतों के अनूठे संयोजन पर आधारित इस प्रस्तुति में पारंपरिक एवं समसामयिक संगीत सुनने को मिलेगा। इस बैंड की ओर से अपनी शानदार प्रस्तुतियों के जरिए लैंगिक रूढ़ियों एवं भेदभाव को चुनौती देते हुए महिला सशक्तीकरण, महिलाओं के समावेशी एवं समान अवसर और महिला गरिमा को बढ़ावा दिया जाता है। स्त्री शक्ति बैंड की ओर से अनेक प्रतिष्ठित इंटरनेशनल म्यूजिक फेस्टिवल्स में प्रस्तुति दी जा चुकी है, जिनमें रिदम स्टिक्स फेस्टिवल, ओल्डम मेला, बीबीसी म्यूजिक लाइव, कॉमनवेल्थ गेम्स फेस्टिवल, जैसे कुछ प्रमुख नाम हैं।

No comments:

Post a comment

Pages