वेदियों पर चढ़ाए 128 चवर, नवीन कमलनुमा वेदी श्रीजी हुए विराजमान - Pinkcity News

Breaking

Saturday, 12 October 2019

वेदियों पर चढ़ाए 128 चवर, नवीन कमलनुमा वेदी श्रीजी हुए विराजमान


आज (रविवार को) होगा सुधा सागर संत भवन के विस्तार एवं मुख्य शिखरों पर गुलाबी पत्थर से श्रृंगार कार्य का शिलान्यास
जयपुर। मानसरोवर स्थित वरुण पथ दिगम्बर जैन मंदिर पर गणाचार्य विराग सागर महाराज के शिष्य मुनि विश्वास सागर महाराज एवं मुनि विभंजन सागर महाराज ससंघ सानिध्य में शनिवार को प्रातः 6 बजे से मूलनायक भगवान महावीर स्वामी के स्वर्ण एवं रजत कलशों से कलशाभिषेक एवं वृहद शांतिधारा कर दो दिवसीय महोत्सव का शुभारंभ किया गया। प्रथम दिन मुख्य आयोजन प्रतिष्ठाचार्य प्रधुम्न शास्त्री के निर्देशन में प्रातः 7.15 बजे से प्रारम्भ हुआ जिसमें सर्व प्रथम मन्दिर की तीनों प्रमुख वेदियो पर 128 सौभाग्यशाली परिवारों द्वारा 128 चवरो की स्थापना युगल मुनिराज के द्वारा मंत्रोउच्चार के साथ करवाई गई। जिसके उपरांत एक वेदी पर विराजमान पदमप्रभ भगवान और मुनिसुव्रतनाथ भगवान को नवीन कमलनुमा वेदी पर शुद्धि संस्कार की क्रिया विधि, मंत्रोउच्चार और जयकारों के साथ पुनः विराजमान किया गया। श्रीजी को विराजमान करने का सौभाग्य अरुण, शैलबाला पाटनी परिवार और मैना देवी, धीरज, पूर्णिमा पाटनी परिवार को प्राप्त हुआ। आयोजन में युवा मंडल और महिला मंडल के पदाधिकारियों सहित चवरो को चढ़ाने वाले सभी पुण्यार्जक परिवारों ने भाग लिया।

प्रचार संयोजक अभिषेक जैन बिट्टू ने बताया चवर और नवीन वेदी की स्थापना के उपरांत प्रातः 8.30 बजे युगल मुनिराजों के मंगल उद्धबोधन सम्पन्न हुए। जिसमे मुनि संघ ने अपने आशीर्वचन में जिनालयों के राखरखावों का महत्व पर प्रकाश डाला और विशेषताएं उपस्थित जनसमूह को बताई। सांध्यकालीन में सायं 6.15 बजे श्रीजी की मंगल आरती, गुरुभक्ति, आनंद यात्रा का आयोजन सम्पन्न हुआ।
अध्यक्ष एमपी जैन ने बताया कि रविवार को दो दिवसीय समारोह का मुख्य आयोजन सम्पन्न होगा। रविवार को आचार्य शिरोमणी विद्या सागर महाराज के शिष्य निर्यापक मुनि पुंगव सुधा सागर महाराज के मंगल निर्देशन एवं आशीर्वाद से निर्मित " सुधा सागर संत भवन " के विस्तार और नवीनीकरण का भव्य शिलान्यास समारोह प्रातः 9.15 बजे से आयोजित किया जाएगा। इस दौरान " संत भवन " सभी पुण्यार्जक परिवार रत्न जड़ित शिलाओं सहित स्वर्ण, रजत और ताम्र शिलाओं से विस्तार और नवीनीकरण कार्य की नींव भरकर शिलान्यास करेंगे। इससे पूर्व प्रातः 6 बजे मूलनायक महावीर स्वामी सहित मन्दिर अन्य दोनों प्रमुख वेदियो पर विराजमान श्रीजी की जिन बिम्ब प्रतिमाओं के कलशाभिषेक एवं शांतिधारा कर नित्य-नियम पूजन किया जाएगा।
मंत्री जेके जैन ने बताया की रविवार को प्रातः 9.15 बजे सर्वाषिधि योग का शुभ मुर्हत होने पर संत भवन के शिलान्यास के साथ - साथ मन्दिर के सभी तीनों प्रमुख शिखरों पर गुलाबी पत्थर का श्रृंगार कार्य का भी पुण्यार्जक परिवारों द्वारा शिलान्यास कार्य मुनि विश्वास सागर महाराज एवं मुनि विभंजन सागर महाराज ससंघ सानिध्य में किया जाएगा। इस दौरान समाज के विभिन्न गणमान्य श्रेष्ठिगणों सहित वरुण पथ जैन समाज, मानसरोवर जैन समाज सहित जयपुर का जैन समाज बड़ी संख्या में इस आयोजन में भाग लेगा। 

No comments:

Post a Comment

Pages