तस्वीरों के जरिये दिखे ऑटिज़्म प्रभावित बच्चों के जीवन से जुड़े भाव - Pinkcity News

Breaking

Saturday, 28 September 2019

तस्वीरों के जरिये दिखे ऑटिज़्म प्रभावित बच्चों के जीवन से जुड़े भाव

- एएएस द्वारा इनिशिएटिव 'अप्रोच ग्राम' का हुआ उद्घाटन
- बॉलीवुड सिंगर मनमीत सिंह के संगीत से दर्शक हुए भावुक
जयपुर, 28 सितम्बर। 'मैं कभी बतलाता नहीं पर अंधेरे से डरता हूं मैं मां' गाने पर जब नन्हें-मुन्हों की शरारत, मासूमिय, घबराहट और पीड़ा भरी तस्वीरें दिखाई तो कार्यक्रम में मौजूद सभी दर्शक भावनाओं से अभिभूत हो गए। कुछ इसी तरह का नजारा देखने को मिला 'अप्रोच ऑटिज़्म सोसाइटी' (एएएस) की ओर से किए गए अपने आप में अनौखे प्रयास 'अप्रोच ग्राम' के लॉन्च कार्यक्रम का। शुक्रवार को टोंक रोड स्थित इंद्रलोक सभागार में ऑटिज़्म से प्रभावित बच्चों के लिए उठाए गए कदम 'अप्रोच ग्राम' का उद्घाटन किया गया। जहां किस तरह अप्रोच ग्राम के जरिए ऑटिज़्म, इंटेलेक्चुअल और डेवलपमेंट डिसेबिलिटी से प्रभावित बच्चों और बड़ों को एक शांत और फ्रेंडली माहौल देने की कोशिश की जाएगी।
कार्यक्रम के शुरुआत सिंगर मनमीत सिंह के द्वारा मधुर वाणी में में प्रस्तुत गणेश वंदना से हुई। जिसके बाद कार्यक्रम के मुख्य अतिथि जयपुर महापौर विष्णु लाटा का स्वागत सत्कार किया गया। इस मौके पर अपने मन के भावों को प्रस्तुत करते हुए महापौर विष्णु लाटा ने कहा कि इंटेलेक्चुअल और डेवलपमेंट डिसेबिलिटी और ऑटिज़्म एक ऐसा विषय है जिस पर ज्यादा चर्चा नहीं की जाती। मगर अप्रोच ऑटिज़्म सोसाइटी के इस कार्यक्रम में शामिल होकर मैंने एक चीज़ का अनुभव किया है कि माता पिता अगर चाहे तो अपने बच्चें के लिए एक मजबूत नींव खड़ी करने का अथक प्रयास करते है। मुझे काफी ख़ुशी महसूस हुई कि जयपुर में इस तरह के प्रयास पर कार्य किया जा रहा है और हम आगे आने वाली हमारी पीढ़ी के लिए एक ऐसी दुनिया का निर्माण कर रहे है जहां किसी भी कमी की वजह कोई भी बच्चा अपने आप को कम नहीं समझेगा।
इसी साथ ही ऑटिज़्म सोसाइटी की वाईस प्रेजिडेंट रेवा सुदीप, सेक्रेटरी अनुराग श्रीवास्तव, गरिमा श्रीवास्तव और सोसाइटी की कौर मेंबर टीम ने सोसाइटी और अप्रोच ग्राम के बारे में जानकारी साझा की। रेवा सुदीप ने बताया कि ऑटिज़्म, इंटेलेक्चुअल और डेवलपमेंट डिसेबिलिटी से प्रभावित बच्चों के पेरेंट्स ग्रुप ने इस सोसाइटी की 9 साल पहले नींव रखी।'अप्रोच ग्राम' के जरिये एक ऐसी रेजिडेंशियल सोसाइटी का निर्माण किया जा रहा है जहां पेरेंट्स अपने ऑटिज़्म प्रभावित बच्चों के साथ निष्फिक्र रह सके। जहां पेरेंट्स के बाद भी बच्चा सोसाइटी में मौजूद डॉक्टर्स, वालंटियर्स, ट्रेनर्स, थेरेपिस्ट और दूसरे पेरेंट्स की देख रख और उसी वातावरण में बेफिक्र जिए। साथ ही बच्चों के अभिभावकों के वृद्ध अवस्था में उनकी देख रेख की जा सके। साथ ही संस्था द्वारा इन बच्चों के एम्प्लॉयमेंट पर भी खास ध्यान दिया जाएगा। कार्यक्रम में 'कौन बनेगा करोड़पति' के इस सीज़न में धनराशि जितने वाली सोसाइटी की फ़ाउंडिंग मेंबर अर्पिता यादव ने भी अपने संघर्ष और सफलता की कहानी बयां करेंगी। जिसके साथ ही उन्हें इस पहल को उच्च स्तर तक ले जाने के लिए सम्मानित किया गया।

No comments:

Post a Comment

Pages