दिग्गज क्रिकेटर इरफान पठान ने जयपुर में "क्रिकेट अकादमी ऑफ पठान्स" का उद्घाटन किया - Pinkcity News

Breaking

Saturday, 28 September 2019

दिग्गज क्रिकेटर इरफान पठान ने जयपुर में "क्रिकेट अकादमी ऑफ पठान्स" का उद्घाटन किया

जयपुर, 28 सितम्बर, 2019। क्रिकेट अकादमी ऑफ पठान्स ने जयपुर में अपना पहला सेन्टर दिग्गज क्रिकेटर इरफान पठान और हरमीत वासदेव, प्रबंध निदेशक (सीएपी) की उपस्थिति में खोला। मिलेनियम स्कूल, धावास रोड, वैशाली नगर जयपुर में आयोजित संवाददाता सम्मेलन में इस उद्घाटन की घोषणा की गई। इस अकादमी में अत्याधुनिक कोचिंग टेक्निक्स का उपयोग कर जयपुर में युवाओं को अहम क्रिकेटर के रूप में तैयार किया जाएगा।
क्रिकेट अकादमी ऑफ पठान्स ने गुजरात, पंजाब, महाराष्ट्र, आंध्र प्रदेश, उत्तराखण्ड और उत्तर प्रदेश के विभिन्न शहरों में भारत के भविष्य के विस्तार के लिए अपने भागीदारों के साथ 2.5 करोड़ रुपए का योगदान करने का वादा किया है। पठान भाइयों - इरफान और यूसुफ के साथ योग्य आदमियों ने लगभग 3 साल पहले क्रिकेट अकादमी ऑफ पठान्स (सीएपी) की शुरुआत की थी। भाइयों ने खेल के लिए जोश और उत्साह के कारण यह केन्द्र  शुरू किए हैं।

क्रिकेट अकादमी ऑफ पठान्स वर्तमान में दिल्ली, नोएडा, रांची, लुधियाना, कोटा, पटना, बंगलूरू, राजकोट, मणिपुर, हिसार, मोरबी, अकोला, पोर्ट ब्लेयर और लूनावाड़ा में प्रतिभाओं को तराशने के काम में जुटा है।

हाल ही में, 40 विद्यार्थियों को पहले से ही जिला और राज्य स्तर पर खेलने के लिए चुना गया है। इसके अलावा स्कॉलरशिप के लिए ट्रायल्स का काम जोरों से चल रहा है, इसका लक्ष्य प्रतिभाओं को सही संसाधनों के साथ इस क्षेत्र में जोड़ना है। क्रिकेट अकादमी ऑफ पठान्स आवश्यक कदम इनको सही दिशा में ले जाने के लिए उठा रहा है और अनगढ प्रतिभा को खिलाड़ियों में बदलने के लिए भी जाना जाता है, जिन्हें बाद में जिला स्तर/राज्य स्तर पर खेलने के लिए चुना जाएगा।
इस अवसर पर क्रिकेट अकादमी ऑफ पठान्स के निदेशक इरफान पठान ने कहा ‘‘हम छात्रों और उनके माता-पिता के साथ चर्चा के लिए सहभागितापूर्ण समय और ऊर्जा का खर्च कर रहे हैं। जयपुर में क्रिकेट अकादमी ऑफ पठान्स के लांच होने के बाद इसका राजस्थान में और भी विस्तार करेंगे राजस्थान में क्रिकेट के प्रति उत्साही युवाओं का खजाना है बस उन्हें तराशने की आवश्यकता है जिसके लिए हम उन्हें विश्वस्तरीय प्रशिक्षण इन्फ्रास्ट्रक्चर प्रदान कर प्रशिक्षित करेंगे ताकि इस शहर के युवा भी राज्य एवं राष्ट्रीय स्तरीय खिलाड़ी के रूप में अपना हुनर दिखा सकेंगे।‘‘
इरफान पठान ने विद्यार्थियों से बातचीत करते हुए अपना कीमती समय बिताया। उन्होंने विभिन्न रास्तों पर छात्रों को सलाह दी कि वे खेल में सफल होने के लिए इनका अनुसरण कर सकते हैं और उन्हें खेल खेलने में सीखे जाने वाले कई अलग-अलग गुणों से भी अवगत कराया जो किसी व्यक्ति के व्यक्तिगत विकास में सहायता करते हैं।
अकादमी बच्चों को क्रिकेट खेलने के साथ-साथ उन लोगों के लिए कोचिंग भी प्रदान करती है जो खेल की तकनीकी को समझने के लिए कोच बनने की ख्वाहिश रखते हैं और बदले में बच्चों पर उनके सीखे हुए कौशल को अंजाम देते हैं। इसके अलावा, अकादमी का ध्यान पोषण, मनोविज्ञान और छात्रों के समग्र शारीरिक विकास पर केंद्रित है।

क्रिकेट अकादमी ऑफ पठान्स के प्रबन्ध निदेशक हरमीत वासदेव के अनुसार ‘‘ कैप की योजना टीयर 2 और टीयर 3 शहरों तक अपना विस्तार करने की है ताकि सभी शौकिया क्रिकेटर्स को जिन्हें खेलों से प्यार है और उन्हें विश्वस्तरीय प्रशिक्षण इन्फ्रास्ट्रक्चर  से अवसर का लाभ उठा सकें। उन्होंने कहा ‘‘भारत में प्रतिभाओं का विशाल समूह है और इसका अधिकांश हिस्सा इन्हीं शहरों में है। हम इन शहरों से प्रतिभा तैयार करने वाले जिले, राज्य और राष्ट्रीय स्तर के क्रिकेटरों के उपयोग की संभावना के बारे में उत्साहित हैं। क्रिकेट अकादमी ऑफ पठान्स (सीएपी) की योजना भारत के विभिन्न शहरों मंे इस वित्त वर्ष के अंत तक 20 और नई अकादमियां शुरू करने की है, जिनमें से जल्द ही लखनऊ, आगरा, हैदराबाद, वैजाग, हरिद्वार, मैसूर, श्रीरामपुर, संगरूर और कडापा मेें इस प्रकार की अकादमी शुरू की जा रही हैं।

No comments:

Post a Comment

Pages