नाटक 'औकात' से महिलाओं पर हो रहे जुल्म और भेदभाव पर उठाई आवाज़ - Pinkcity News

Breaking News

Sunday, 29 September 2019

नाटक 'औकात' से महिलाओं पर हो रहे जुल्म और भेदभाव पर उठाई आवाज़

- ओपन फॉर स्माइल ऑलवेज की ओर से बिड़ला सभागार में आयोजन
- 200 पुलिसकर्मी की मौजूदगी में किया उनके हौसले को सलाम
जयपुर, 29 सितम्बर। इंडिया गॉट टैलेंट फेम कलाकारों ने बॉलीवुड की धुनों पर योग के कठिन आसनों को आसानी से प्रस्तुत कर दशकों की वाहवाही लूटी, मौका था ओपन फॉर स्माइल ऑलवेज की ओर से हर वर्ष आयोजित होने वाले कार्यक्रम 'उम्मीद-19' के आयोजन का। रविवार को बिड़ला ऑडिटोरियम में आयोजित हुए इस कार्यक्रम का खास उद्देश्य स्लम के बच्चों को सही राह दिखा कर गलत मार्ग पर जाने से रोकना है। जिसके लिए युवातरंग संस्कृत नाट्यदल द्वारा एक खास प्ले 'औकात' का आयोजन किया गया जिसमें महिलाओं के साथ हो रहे यौनशोषण की तस्वीर प्रस्तुत की गई। कार्यक्रम के दौरान विशेष तौर पर डिप्टी कमिश्नर ऑफ पुलिस अजय सिंह लांबा के साथ 200 पुलिसकर्मी ने भी कार्यक्रम का आनंद लिया। वहीं मुख्य अतिथि के रूप में परिवहन एवं सैनिक कल्याण मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास और महेश जोशी, रफीक खान और अन्य गणमान्य उपस्थित रहे। साथ ही सेलिब्रिटी गेस्ट के रूप में हरियाणवी सिंगर सुमित गोस्वामी और स्टार प्लस द वॉईस ऑफ़ इंडिया 2019 फेम दीपक भारती ने अपने सुरों से शाम को खूबसूरत बनाया।
इस दौरान बच्चें ऑडियंस के सामने अपनी कला का प्रदर्शन करते दिखे। जिसमें डांस, स्किट, ड्रामे के सहारे महिलाओं, बच्चों और गरीबों पर हो रहे जुल्म और भेदभाव के खिलाफ आवाज़ उठाई गई। वहीं शहर के रखवाले पुलिस कर्मियों के लिए एक छोटा से ट्रिब्यूट दिया गया, जिसके तहत कार्यक्रम में मौजूद सभी अतिथिगणों ने खड़े होकर और मोबाइल की फ़्लैश लाइट जला के सम्मान दिया।
एनजीओ के प्रेसिडेंट अर्जुन सक्सैना ने बताया कि इस कार्यक्रम के अंतर्गत ओपन फॉर स्माइल ऑलवेज एनजीओ के द्वारा समाज के जरूरतमंद लोगों के लिए कार्य किया जाता है। जिसके तहत स्लम एरिया के बच्चे जोकि बहुत ही प्रतिभा संपन्न बच्चे हैं लेकिन उन्हें कोई आयाम नहीं मिल पाता है और ना ही कोई प्लेटफॉर्म तो ऐसे बच्चों की प्रतिभा को ओपन फॉर स्माइल ऑलवेज एनजीओ के द्वारा उनके स्पेशलिस्ट की ओर से उन बच्चों की प्रतिभाओं को निखारा जाता है । साथ ही एक प्लेटफॉर्म उन्हें उपलब्ध करवाया जाता है ताकि वह अपनी प्रतिभा के जरिए आगे बढ़ सके। कार्यक्रम में एनजीओ के कार्यक्रम उम्मीद 19 में कुछ जरूरतमंद लोगों को उनकी प्रतिभा के अनुसार स्कॉलरशिप भी दी गई ताकि वह बच्चे अपना भविष्य संवार सकें और अपने टैलेंट को निखार सके । एनजीओ के द्वारा तैयार किए गए स्लम क्षेत्रों के बच्चे जो कि उनकी प्रतिभा के अनुसार तैयार किया गया है।

No comments:

Post a comment

Pages