राष्ट्रीय हैण्डलूम दिवस पर पांच बुनकर पुरस्कृत - Pinkcity News

Breaking

Wednesday, 7 August 2019

राष्ट्रीय हैण्डलूम दिवस पर पांच बुनकर पुरस्कृत


बुनकर उत्पाद जुड़ेंगे ई बाजार से, एक लाख तक के ऋण का ब्याज वहन करेगी सरकार : प्रमुख सचिव आलोक
 जयपुर, 7 अगस्त। एमएसएमई के प्रमुख शासन सचिव आलोक ने कहा है कि प्रदेष के बुनकर उत्पादों  को ई कामर्स सुविधा से जोड़ा जाएगा ताकि देष विदेष में बुनकर उत्पादों को बाजार और लाभकारी मूल्य मिल सके।
प्रमुख सचिव बुधवार को पंचायतीराज संस्थान में उद्योग विभाग व केन्द्रीय वस्त्र मंत्रालय के बुनकर सेवा केन्द्र द्वारा राष्ट्रीय हैण्डलूम दिवस पर आयोजित राज्य स्तरीय बुनकर पुरस्कार समारोह को संबोधित कर रहे थे। आरंभ में आयुक्त डॉ. कृृष्णा कांत पाठक व उपनिदेषक बुनकर सेवा केन्द्र रुचि यादव के साथ दीप प्रज्ज्वलन कर समारोह का शुभारंभ किया। उन्होंने बुनकर संघ के ई पोर्टल का भी लोकार्पण किया। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार हैण्डलूम को बढ़ावा और बुनकर कल्याण के लिए ठोस कदम उठा रही है।
आलोक ने कहा कि सरकार बुनकरों को ऋण, डिजाइनिंग, प्रषिक्षण, कौषल विकास और ई कामर्स से जोड़ने जैसे कदम उठाने जा रही है। उन्होंने कहा कि नई पीढ़ी को नई सोच व मानसिकता व डिजाइनों के साथ आगे आने होगा और सोषियल मीडिया व विभिन्न एपों का उपयोग करते हुए आधुनिक तकनीक से जुड़ने की पहल करनी होगी।
आयुक्त डॉ. कृृष्णा कांत पाठक ने कहा कि बुनकर संघ व राजस्थान हाथ करघा विकास निगम के माध्यम से बुनकरों को नई तकनीक और बाजार से जोड़ने का निर्णय किया गया है। उन्होंने कहा कि प्रदेष में बुनकरों की ऋण जरुरत को पूरा करने के लिए एक लाख रुपए तक के ऋण का पूरा ब्याज राज्य सरकार द्वारा वहन किया जाएगा और बुनकरों से एक लाख तक के ऋण पर एक पैसा भी ब्याज नहीं लिया जाएगा।
डॉ. पाठक ने कहा कि बुनकर उत्पादों की आज देष दुनिया में तेजी से मांग बढ़ी है। सूती वस्त्र पहली पसंद बनते जा रहे हैं। ऐसे में परंपरागत शैली के साथ ही नई तकनीक और नई डिजाइन के साथ बुनकरों को आगे आना होगा। उन्होंने कहा कि सरकार कलस्टर आधारित विकास व नियमित प्रषिक्षण सुविधा उपलब्ध कराने की व्यवस्था को अंतिम रुप देने जा रही है।
बुनकर सेवा केन्द्र की उपनिदेषक रुचि यादव ने केन्द्र सरकार द्वारा बुनकर विकास के लिए किए जा रहे कार्यों की जानकारी दी। बुनकर संघ के प्रबंध संचांलक आरके आमेरिया ने बताया कि बुनकर संघ ने बुनकर उत्पादों को देष दुनिया में बाजार उपलब्ध कराने के लिए ई पोर्टल से जोड़ा जाएगा।
पुरस्कृृत बुनकर
समारोह में प्रमुख सचिव एमएसएमई आलोक व आयुक्त डॉ. पाठक ने सूती साड़ी के नए डिजाइन के लिए आंवा टोंक के राहुल कुमार जैन को प्रथम, बनियाना दौसा के राधेष्याम कटारिया को कॉटन दरी को द्वितीय व मनोहर थाना झालावाड़ की सुमित्रा को डबल बैड़ खेस पर काम के लिए तीसरा पुरस्कार, लालपुरा जालौर के किषनाराम को मैरिनो पट्टू और फलौदी जोधपुर के नारायण का सूती कुषन पर नए प्रयोग के लिए संयुक्त रुप से सात्वंना पुरस्कार दिया गया। पुरस्कार स्वरुप क्रमषः 21 हजार रु., 11 हजार रु. 7100 रु. और सांत्वना पुरस्कार स्वरुप 3100-3100 रु. और शॉल व प्रषस्ति पत्र देकर सम्मानित किया गया।
कार्यक्रम का संचालन उद्योग विभाग के प्रहलाद कुमावत ने किया। इस अवसर पर लघु फिल्मों के प्रदर्षन के साथ ही विषेषज्ञों द्वारा महत्वपूर्ण जानकारी दी गई। समारोह में उद्योग विभाग के वरिष्ठ अधिकारी, संबंधित संस्थाओं के अधिकारी व करीब चार सौ बुनकरों ने हिस्सा लिया।

No comments:

Post a Comment

Pages