गोविंददेवजी मंदिर में जन्माष्टमी महोत्सव में संकीर्तन और भजनों की स्वर लहरियां गूंजी - Pinkcity News

Breaking

Monday, 19 August 2019

गोविंददेवजी मंदिर में जन्माष्टमी महोत्सव में संकीर्तन और भजनों की स्वर लहरियां गूंजी

जयपुर। आराध्यदेव गोविंददेवजी मंदिर में मनाए जा रहे श्रीकृष्ण जन्माष्टमी महोत्सव  में सोमवार को सुबह जहां संकीर्तन और भजनों की स्वर लहरियां गंूजी वहीं शाम को कृष्ण लीला हुई।  मंदिर महंत अंजन कुमार गोस्वामी के सान्निध्य में श्री राधा गोविंद कृपा प्रभात फेरी मंडल के सदस्यों ने संकीर्तन और भजनों की जुगलबंदी छेड़ी। राधे कृष्णा राधे कृष्णा....,भज गोविंदम्..., राधे-राधे... संकीर्तन के साथ श्याम आ जाओ...,सांवरे सलौने श्याम...जैसे भजनों की स्वर लहरियां बिखेरी। भजनों की मधुर तान पर श्रद्धालुओं ने नृत्य कर खुशी की अभिव्यक्ति दी। इस दौरान पुष्प वर्षा भी की गई। ठिकाना मंदिर श्री गोविंद देवजी की ओर से सभी भजन गायकों को मंदिर के प्रबंधक मानस गोस्वामी ने दुपट्टा ओढ़ाकर सम्मानित किया।  इस अवसर पर ठाकुरजी को मोगरे के फूलों की कलियों से निर्मित पोशाक धारण कराई गई। मुकुट, कमर बंध सहित सभी आभूषण भी पुष्प गुंथित थे।
 20 अगस्त को सुबह 9 से 11 बजे तक कांवटियो का खुर्रा स्थित श्याम सत्संग मंडल की ओर से संकीर्तन होगा। साढ़े ग्यारह बजे से ओसम स्कूल के विद्यार्थी कृष्ण लीला का मंचन करेंगे। शाम को गौड़ीय मठ की ओर से संकीर्तन और भजन होंगे।
21 अगस्त को श्री राम सत्संग मंडल त्रिवेणी धाम की ओर से भजन-कीर्तन होंगे तथा शाम को श्री श्याम अनमोल सेवा रत्न परिवार की ओर से भजन संध्या का आयोजन किया जाएगा जिसमें भजन गायक नंदूजी भजनों की प्रस्तुतियां देंगे। 22 अगस्त को गोपीनाथ मंडल श्री गौरांग दास जी की ओर से भजन-कीर्तन के कार्यक्रम होंगे। शाम को गिरिराज परिक्रमा मंडल की ओर से भजन-कीर्तन होंगे। 23 अगस्त को वृंदावन वैष्णव मंडल की ओर से सुबह 9.30 बजे से अष्ट प्रहर हरि नाम संकीर्तन होगा।

No comments:

Post a Comment

Pages