भारतीय स्किल डेवलपमेंट यूनिवर्सिटी ने की तीन नए पाठ्यक्रमों की घोषणा - Pinkcity News

Breaking

Thursday, 1 August 2019

भारतीय स्किल डेवलपमेंट यूनिवर्सिटी ने की तीन नए पाठ्यक्रमों की घोषणा

 जयपुर, 01 अगस्त 2019 । भारतीय स्किल डेवलपमेंट यूनिवर्सिटी (बीएसडीयू) ने अपने बोर्ड ऑफ स्टडीज (बीओएस) की 15 वीं बैठक का आयोजन जयपुर में किया। बैठक के दौरान एक महत्वपूर्ण घोषणा स्विस ड्यूल सिस्टम पर आधारित तीन नए व्यावसायिक डिग्री कार्यक्रमों के बारे में की गई, जिनमें बी. वोक हेल्थकेयर स्किल, बी. वोक एंटरप्रेन्योरशिप स्किल (ब्यूटी एंड वेलनेस) और बी वोक मेटल कंस्ट्रक्शन स्किल हैं। बैठक में बोर्ड के सदस्यों की उत्साही भागीदारी के अलावा युवाओं को कौशल संपन्न करने के लिए कई रणनीतियों पर चर्चा करने के लिए विश्वविद्यालयों जैसे तकनीकी शिक्षा निकायों से विशेष आमंत्रित सदस्य मौजूद थे। बैठक की अध्यक्षता बीएसयू के अध्यक्ष डॉ. (ब्रिगेडियर) एस. एस. पाब्ला ने की और उन्होंने अकादमिक वर्ष 2019 -2020 के लिए प्रस्तावित तीन नए पाठ्यक्रमों के बारे में विवरण प्रस्तुत किया।
नए कार्यक्रमों की शुरुआत की घोषणा करते हुए डॉ. पाब्ला ने कहा, ‘नए पाठ्यक्रम उद्योग की मांगों के अनुसार रचे गए हैं। हमारा उद्देश्य अधिकतम संभव कौशल क्षेत्रों में छात्रों को गहन प्रशिक्षण प्रदान करना है। हमारी व्यावसायिक डिग्री पूरी करने वाले किसी भी छात्र के पास निश्चित रूप से भर्ती होने की अधिक संभावना होगी क्योंकि वह हमारे परिसर में उपलब्ध पेशेवरों में सबसे अधिक मांग वाली विश्व स्तर की मशीनों पर प्रशिक्षण प्राप्त करेगा।’
बोर्ड ऑफ स्टडीज के सदस्यों को संबोधित करते हुए डॉ. पाब्ला ने कहा, ‘हमारा उद्देश्य कौशल विकास की पहलों के साथ सर्वश्रेष्ठ छात्रों को तैयार करना है। हमें इन नए पाठ्यक्रमों की घोषणा करने पर गर्व है। मुझे उम्मीद है कि इससे छात्रों को जमीनी स्तर से नौकरी पाने में मदद मिलेगी। हमें यह साझा करने में खुशी हो रही है कि हमने उन सभी छात्रों को 100 फीसदी प्लेसमेंट सहायता प्रदान करके एक मील का पत्थर पार किया है, जो पिछले वर्ष बी.वोक पाठ्यक्रम में नामांकित हुए थे। इसके अलावा, इस समय हमारे पास नियुक्तियों के लिए लगभग 180 कंपनियां हैं।’
तीन नए पाठ्यक्रमों के तहत, छात्र विश्वविद्यालय में तीन सेमेस्टर पूरे करेंगे, जहां वे अपने संबंधित क्षेत्रों के सैद्धांतिक पहलुओं के साथ-साथ मशीनों और उपकरणों के साथ काम करना सीखेंगे। जबकि, अन्य तीन सेमेस्टर उद्योग में पूरे किए जाएंगे जहां छात्रों को व्यावहारिक प्रशिक्षण मिलेगा।
नए पाठ्यक्रमों के साथ, बीएसडीयू ने अपनी फीस संरचना में वृद्धि की भी घोषणा की। पहले फीस 50,000 रुपए से 60,000 रुपए तक थी, जबकि अब बीएसडीयू में बी. वोक और एम.वोक पाठ्यक्रम के लिए फीस 60,000 से लेकर लगभग 1,00,000 रुपए तक के हैं। बढ़ाने के पीछे का कारण छात्रों की साल-दर-साल बढ़ती संख्या, और विश्वविद्यालय के लिए और अधिक अत्याधुनिक संसाधनों और सुविधाओं की आवश्यकता है। इसके अलावा, बीएसडीयू ने अपने पाठ्यक्रम और प्रशिक्षण विधियों में कुछ बदलावों का प्रस्ताव रखा।
भारतीय स्किल डेवलपमेंट यूनिवर्सिटी एक कौशल विकास विश्वविद्यालय है, जो छात्रों को उचित प्रशिक्षण, गुणवत्ता का बुनियादी ढांचा और अच्छी तरह से डिजाइन कोर्सेज प्रदान करके उन्हें उपयुक्त माहौल देते हुए भारत में कौशल विकास उद्योग में उत्कृष्टता लाने की दिशा में काम कर रही है ताकि छात्र अंतरराष्ट्रीय स्तर पर प्रतिस्पर्धा करने के लिए तैयार रहें। छात्रों को विशेषज्ञों से प्रशिक्षण मिलता है और मशीनरी के साथ ठीक से काम करने का अनुभव प्राप्त होता है। विश्वविद्यालय छात्रों को व्यावहारिक प्रशिक्षण प्रदान करता है और प्रत्येक व्यक्ति को बेहतर प्रशिक्षण देने के लिए ’1 छात्र पर एक 1 मशीन’ के आदर्श वाक्य का अनुसरण करता है। बीएसडीयू विनिर्माण उद्योग के लिए छात्रों को प्रशिक्षण प्रदान करने की दिशा में काम करता है और उन्हें विनिर्माण क्षेत्र में कैरियर बनाने के लिए प्रोत्साहित करता है।

No comments:

Post a Comment

Pages