1181 करोड से विद्यालयों में 10 हजार 600 कक्षा कक्षों का होगा निर्माण - Pinkcity News

Breaking

Tuesday, 6 August 2019

1181 करोड से विद्यालयों में 10 हजार 600 कक्षा कक्षों का होगा निर्माण

शिक्षा मंत्री डोटासरा ने ली विभाग की विशेष समीक्षा बैठक
govind dotasara के लिए इमेज परिणाम
जयपुर, 6 अगस्त।  शिक्षा मंत्री गोविन्द सिंह डोटासरा ने कहा है कि राज्य सरकार 1181 करोड की लागत से प्रदेश के विद्यालयों में 10 हजार 600 कक्षा कक्षों का निर्माण करवाएगी। उन्होंने कहा कि इसके तहत विद्यालयों में अतिरिक्त कक्षा-कक्ष, कम्प्यूटर कक्ष, विज्ञान प्रयोगशाला कक्ष, पुस्तकालय कक्ष, आर्ट एंव क्राफ्ट कक्ष आदि का निर्माण किया जाएगा। उन्होंने कहा कि इसी तरह प्रदेश में  83 विद्यालयों के भवनों की वृहद मरम्मत के कार्य एवं 23 नवीन भवनों के निर्माण कार्य भी करवाए जावेंगे।
डोटासरा आज यहां शिक्षा संकुल में विभाग की विशेष समीक्षा बैठक में संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि राज्य के बजट में की गयी घोषणाओं की समयबद्ध पालना के लिए संबंघित अधिकारी प्रतिबद्ध होकर कार्यवाही करें। उन्होंने इस मौके पर राज्य के विद्यालयों में स्वच्छ पेयजल के साथ ही विद्युत की प्रभावी व्यवस्था सुनिश्चित करने के भी निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि जिन विद्यालयों में आईसीटी लैब नहीं है, वहां पर आईसीटी लैब के लिए भी त्वरित कार्यवाही की जाए। उन्होंने स्पष्ट कहा कि राज्य के विद्यालय बेहतर बनें, उनमें गुणवत्तापूर्ण शिक्षा की व्यवस्था हो-इसे सभी स्तरों पर सुनिश्चित किया जाए। इस संबंध में किसी भी प्रकार की लापरवाही अथवा कोताही को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।
शिक्षा मंत्री ने जीर्णशीर्ण भवनों वाले विद्यालयों को चिन्हित करने के भी निर्देश दिए तथा कहा कि ऐसे विद्यालयों के संबंध में जिला कलक्टर स्तर पर संवाद कर त्वरित कार्यवाही की जाए। उन्होंने विद्यालयों की चारदीवारी निर्माण के लिए मनरेगा से यह कार्य करवाने के लिए भी जिला कलक्टर स्तर पर प्रस्ताव बनवाकर समयबद्ध कार्यवाही करवाने के लिए शिक्षा अधिकारियों को निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार की यह मंशा है कि प्रदेश के विद्यालयों में गुणवत्तापूर्ण शिक्षा के साथ ही विद्यालयों का भी सुदृढ़ीकरण हो।
शिक्षा मंत्री ने कहा कि नए विद्यालय जहां पर शौचालय की सुविधा नहीं हैं, वहां पर शौचालय निर्माण की कार्यवाही संबंधित योजना के तहत की जाए। उन्होंने शिक्षा अधिकारियों को निर्देश दिए कि विद्यालयों के सुदृढ़ीकरण से संबंधित कोई भी कार्यवाही लम्बित नहीं रहनी चाहिए। उन्होंने इस संबंध में विभागीय स्तर पर विद्यार्थियों से संबंध्ंिात सुविधाओं की नियमित मोनिटरिंग किए जाने के लिए भी निर्देश दिए। बैठक में शिक्षा विभाग के प्रमुख शासन सचिव श्री आर. वेंकटेश्वरन एवं राज्य परियोजना निदेशक श्री एन.के.गुप्ता ने विभिन्न विभागीय योजनाओं और उनकी प्रगति के बारे में अवगत कराया। बैठक में बड़ी संख्या में शिक्षा अधिकारियों ने भाग लिया।
 

No comments:

Post a Comment

Pages