अलवर और जबलपुर में हुई घटनाओ से जैन समाज में रोष, सीएम से करेंगे मुलाकात - Pinkcity News

Breaking News

Saturday, 20 July 2019

अलवर और जबलपुर में हुई घटनाओ से जैन समाज में रोष, सीएम से करेंगे मुलाकात


पिछले 6 दिनों से अलवर के रेणी ग्राम पर अनशन पर बैठे है जैन मुनि
abhishek jain bittu के लिए इमेज परिणामजयपुर। जैन समाज अहिंसा और विश्वास के लिए पुरे विश्व में जाना जाता है के साथ भी आजकल हिंसक घटनाएं बढ़ती जा रही है मामला है प्रदेश के अलवर जिले का और मध्य प्रदेश के जबलपुर शहर का, अलवर जिले के रेणी गांव में अतिप्राचिन दिगम्बर जैन नसियां है जिस पर कुछ असमाजिक तत्वों ने कब्जा कर लिया है जिसको मुक्त करवाने की मांग को लेकर दिगम्बर जैन समाज के दो मुनि पिछले छ: दिनों से अनशन पर बैठे है यही नहीं सोमवार 15 जुलाई को जब उन असामाजिक तत्वों से वार्तालाप के लिए जैन मुनि पहुंचे तो उन तत्वों ने सारी मर्यादाओ को तार तार करते हुए उनके साथ दुर्व्यवहार, धक्का - मुक्की और गाली - गलोच तक कर डाली जिसको लेकर सकल जैन समाज आक्रोशित है। समाज सरकार से मांग करती है कि उन असामाजिक तत्वों से नसियां जी को मुक्त करवाया जाये और मुनि श्री के साथ अभृता करने वाले व  समाज की धार्मिक भावनाओ को भड़काने वाले अपराधियों को जल्द से जल्द गिरफ्तार कर न्याय दिलवाये। शनिवार को जयपुर अखिल जैन सभा अध्यक्ष नरेंद्र जैन, मनीष जैन सहित 5 लोगो का प्रतिनिधि मंडल रेणी गया था और वहां पर अनशन कर रहे मुनि संयम सागर और मुनि सुझाव सागर महाराज से मुलाकात की साथ समाज के लोगो से भी मुलाकात की। सोमवार या मंगलवार तक मुख्यमंत्री से मिलने का समय मिलते ही समाज का ज्ञापन उन्हें सोप दिया जायेगा।
अखिल भारतीय दिगम्बर जैन युवा एकता संघ अध्यक्ष अभिषेक जैन बिट्टू ने बताया कि  केवल अलवर ही नहीं देश के दूसरे भाग मध्य प्रदेश के जबलपुर शहर में भी समाज की आस्था के प्रतीक स्वरूप निर्मित कीर्ति स्तम्भ को वहां कि नगर निगम प्रशासन ने बिना किसी सुचना और दिशा - निर्देशन के तोड़ कर समाज के आस्था के साथ जबरदस्त खिलवाड़ किया इन घटनाओ के लेकर सकल जैन समाज भारतवर्ष काफी आक्रोशित है और दोनों प्रदेश की कांग्रेस सरकार से मांग करती है की वह जल्द से जल्द जैन समाज को न्याय दिलवाये अन्यथा समाज दोनों सरकारों के खिलाफ सड़को पर उत्तर कर विरोध प्रदर्शन करेगा। 

अभिषेक जैन ने बताया की दोनों घटनाओ को लेकर जैन समाज बड़ी संख्या में आक्रोशित है दोनों स्थानों पर राज्य सरकार के हस्तक्षेप और न्याय की मांग को लेकर एक - दो दिन एक प्रतिनिधि मंडल मुख़्यमंत्री अशोक गहलोत से भी मुलाकात करेगा और घटनाओ कि सम्पुर्ण जानकारी से अवगत करवा न्याय दिलवाने की मांग का ज्ञापन सौपेगा। 
प्रदेश अध्यक्ष प्रमोद बकलीवाल ने बताया कि  अलवर हो या मध्य प्रदेश का जबलपुर हो दोनों ही स्थल जैन समाज की आस्था के केंद्र है जैन समाज किसी भी सूरत में अपनी आस्था के साथ खिलवाड़ बर्दास्त नहीं करेगा, जैन समाज एक अहिंसा वादी समाज है किन्तु स्वयं, आस्था और क्षेत्रों की रक्षा के लिए ईंट का जवाब पत्थर से देना जनता है वर्ष 2015 में पूरा देश समाज की एकता को देख चूका है जब न्यायलय ने संथारा / संल्लेखना पर दिए अपने निर्णय को बदलना पड़ा था। हम नहीं चाहते समाज को अपनी आस्था को बचाने के लिए सड़कों पर उतरना पड़े क्योकि यह देश धर्म प्रधान देश है जहाँ संतो और धर्मो का सम्मान है सरकार की जिम्मेदारी है की वह सभी धर्मो का सम्मान बनाये रखे, लेकिन अगर ऐसा नहीं होता है तो इंसान स्वयं सड़को पर उत्तर अपने धर्म की रक्षा और सुरक्षा करना भलीभांति जनता है। 

No comments:

Post a comment

Pages