महिलाओं के लिए खास होगा उद्योग विभाग का तीज लहरियां उत्सव : उद्योग आयुक्त - Pinkcity News

Breaking News

Tuesday, 9 July 2019

महिलाओं के लिए खास होगा उद्योग विभाग का तीज लहरियां उत्सव : उद्योग आयुक्त


जयपुर, 9 जुलाई। जयपुरवासियों के लिए इस बार तीज-सिंजारा कुछ खास होने जा रहा है। उद्योग विभाग द्वारा जुलाई के अंतिम सप्ताह में तीज लहरियां उत्सव आयोजित किया जाएगा। उद्योग आयुक्त डॉ. कृष्णा कांत पाठक ने बताया कि महिलाओं के प्रमुख त्यौहार सिंजारा को विषेष बनाने के लिए तीज लहरियां पांच दिवसीय उत्सव में परंपरागत से लेकर आधुनिकतम डिजाइन के लहरियां और अन्य परिधान आदि इस उत्सव में उपलब्ध कराए जाएंगे।
आयुक्त डॉ. पाठक ने बताया कि हस्तषिल्प के क्षेत्र में काम कर रहे हस्तषिल्पियों द्वारा इस पांच दिवसीय तीज सिंजारा उत्सव में लहरियां के विविध रुप समुंद लहरिया, इन्दुधनुष लहरिया, फागुनिया, मौठड़ा (क्रास लहरिया) लहरिया दुपट्टा, लहरिया चूंदड़ी के साथ ही तरह तरह की ओढ़नियां प्रदर्षित भी उपलब्ध कराई जाएगी। उन्होंने बताया कि उद्योग विभाग द्वारा परंपरागत कार्यों के साथ ही हस्तषिल्प और हस्तषिल्पियों के संरक्षण व संवर्द्धन के साथ ही सीधे आम आदमी से जुड़ाव के लिए तीज लहरियां उत्सव का आयोजन किया गया है। इस उत्सव में महिलाओं को सभी रेंज के लहरियां व अन्य उत्पाद उचित मूल्य पर उपलब्ध होगी। उल्लेखनीय है कि लहरियां उत्पादकों और जयपुरवासियों में सीधा संवाद स्थापित करने के लिए उद्योग विभाग द्वारा इस तरह की पहलीबार पहल की गई है।
तीज त्यौहार के चलते सावन के महीने की खास पहचान होती है। नवविवाहिताओं के साथ ही सभी आयुवर्ग की महिलाओं के लिए सिंजारा और सिंजारा में भी लहरियां का खास महत्व है। इसी को ध्यान में रखकर उद्योग विभाग के उद्यम प्रोत्साहन संस्थान द्वारा राजसिको, बुनकर संघ, राजस्थान हाथकरघा विकास निगम, रुडा, खादी बोर्ड आदि के सहयोग से आयोजित तीज लहरियां उत्सव में जाने माने बूटिक या आर्टिजन आदि भी हिस्सा लेने के लिए ऑनलाईन या सीधे उद्यम प्रोत्साहन या इन संस्थाओं मंे आवेदन कर सकते हैं। तीज लहरियां उत्सव में लहरियां के साथ ही कोटा डोरिया, अजरख के साथ ही महिलाओं व पुरुषों के परिधान भी उपलब्ध होंगे। इसके अलावा लाख-चूड़ी भी उपलब्ध होगी। पांच दिवसीय तीज लहरियां उत्सव में और अधिक प्रतिभागिता बढ़ाने व बहुआयामी बनाने के लए 15 जुलाई को पुनः बैठक आयोजित की जाएगी।
बैठक में राजसिको एमडी शकुंतला सिंह, बुनकर संघ एमडी आरके आमेरिया, रुडा ईडी संजीव सक्सेना, यूपीएस ईडी एसएस षाह, आरएसडीसी के महाप्रबंधक नायब खान, महाप्रबंधक द्वय डीडी मीणा व सुभाष शर्मा, एमएसएमई-डीआई के उपनिदेषक प्रदीप ओझा, बुनकर सेवा केन्द्र की उपनिदेषक रुची यादव, राजसिको के दिनेष सेठी, सहायक निदेषक पीआर राजेन्द्र शर्मा आदि ने सुझाव दिए।

No comments:

Post a comment

Pages