फुहारों के बीच तीज लहरिया उत्सव में खरीदारी का खासा उत्साह - Pinkcity News

Breaking

Saturday, 27 July 2019

फुहारों के बीच तीज लहरिया उत्सव में खरीदारी का खासा उत्साह

लहरिया थीम पर हवामहल प्रदर्षित सैल्फी पांइट बना पहली पसंद
जयपुर, 27 जुलाई। जयपुर की हृृदय स्थली अजमेरी गेट के पास स्थित राजस्थली सावन की फुहारों के साथ पूरी तरह से लहरिया मय हो गई है। उद्योग विभाग के उद्यम प्रोत्साहन संस्थान द्वारा आयोजित पांच दिवसीय तीज लहरियां उत्सव के दूसरे दिन रिमझिम रिमझिम बरसात के साथ जयपुरवासियों खासतौर से नवविवाहिताओं व महिलाएं लहरिया की खरीद में खासा रुचि दिखा रही है। मजे की बात यह है कि उत्सव में आने वाले क्या बड़े-क्या बुजुर्ग इनके द्वारा बादषाह मियां द्वारा डिसप्ले की गई पुरातन से अध्यतन तक की लहरियां, मोठड़ी, चूंदड़ी, षेखावाटी शैली की पगडि़यों व साफों को देखने और सिर पर पहन कर देखने की होड़ सी मची है।
उद्योग आयुक्त डॉ. कृृष्णा कांत पाठक ने बताया कि जयपुराइट्स के सिंजारे उत्सव को खास बनाने के उद््देष्य से उद्योग विभाग ने पहली बार तीज सिंजारा उत्सव के आयोजन की पहल की है। उन्होंने बताया कि इस उत्सव के माध्यम से प्रदेष की परंपरागत हस्तषिल्प और हाथकरघा उत्पादों से आज की पीढ़ी को रुबरु भी कराया जा रहा है। 50 से अधिक स्टॉलों में राजस्थली पर राज्य के कोने कोने के लहरियां डिजाइन को प्रदर्षित व बिक्री की व्यवस्था की गई है। इसके साथ ही मेहंदी और नेल आर्ट के साथ ही नेषनल अवार्डी षिल्प गुरु ऐवाज मोहम्मद तीज लहरियां उत्सव में ही लाख षिल्प का सजीव प्रदर्षन कर रहे हैं।
आयुक्त डॉ. पाठक ने बताया कि हस्तषिल्प के क्षेत्र में काम कर रहे हस्तषिल्पियों द्वारा इस पांच दिवसीय तीज सिंजारा उत्सव में लहरियां के विविध रुप समुंद लहरिया, इन्दुधनुष लहरिया, फागुनिया, मौठड़ा (क्रास लहरिया) लहरिया दुपट्टा, लहरिया चूंदड़ी के साथ ही तरह तरह की ओढ़नियां प्रदर्षित व बिक्री की जा रही है। तीज लहरियां उत्सव में राष्ट्रीय कौषल प्रषिक्षण संस्थान, राजकीय महिला पॉलिटेक्निक कालेज, एपेरेल ट्रेनिंग एण्ड डिजाइन सेंटर, पूर्णिमा विष्वविद्यालय, जयपुर कलाकेन्द्र और रेडिएंस के युवा डिजाइनरों द्वारा भी लहरिया थीम पर उत्पाद प्रदर्षित व बिक्री की व्यवस्था की गई है।
उत्सव प्रभारी संयुक्त निदेषक एसएस शाह ने बताया कि उत्सव स्थल पर जयपुर को विष्व हैरिटेज घोषित होने को ध्यान में रखते हुए लहरिया थीम पर हवामहल प्रदर्षित करते हुए तैयार सैल्फी पांइट भी खास आकर्षण का केन्द्र बना हुआ है। उद्यम प्रोत्साहन संस्थान द्वारा रुडा, बुनकर संघ, हाथकरघा विकास निगम और राजसिको के सहयोग से अयोजित तीज सिंजारा उत्सव 30 जुलाई तक प्रातः 11 बजे से रात 9 बजे तक चलेगा। उत्सव में प्रवेष निःषुल्क है।

No comments:

Post a Comment

Pages