सरकारी क्षेत्र की पहली चैट सेवा का हुआ प्रारंभ, आंकडों आधारित सार पोर्टल की हुई लॉंचिंग - Pinkcity News

Breaking News

Saturday, 29 June 2019

सरकारी क्षेत्र की पहली चैट सेवा का हुआ प्रारंभ, आंकडों आधारित सार पोर्टल की हुई लॉंचिंग

राष्ट्रीय सांख्यिकी दिवस का आयोजन : विकास एवं नीति निर्माण में डाटा संधारण
महत्वपूर्ण मददगार
जयपुर, 29 जून। प्रमुख शासन सचिव, सांख्यिकी अभय कुमार ने कहा कि सतत विकास के लक्ष्य-2030 को प्राप्त करने के लिए डाटा संधारण एक महत्वपूर्ण चुनौती है और इसे यूनिसेफ, एनआईसी एवं एनएसएसओ के सहयोग से आसान बनाया जा सकता है तथा इनके सहयोग द्वारा राज्य में सतत विकास के लक्ष्यों के लिए एक नीति का निर्माण करना होगा जो ‘‘कोई विकास में पीछे नही रहे’’ के उददेष्य को प्राप्त करने के लिए महत्वपूर्ण कदम साबित होगा।
कार्यक्रम के मुख्य अतिथि कुमार शनिवार को एच.सी.एम. रीपा के भगवत सिंह मेहता सभागार में 13वें राष्ट्रीय सांख्यिकी दिवस पर आयोजित राज्य स्तरीय समारोह को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि किसी भी राज्य के विकास में डाटा की अपनी एक अलग महत्ता है और अंतिम छोर पर बैठे व्यक्ति को विकास की मुख्य धारा में लाने के लिए डाटा के आधार पर ही पॉलिसी निर्माण को दिशा दी जाती है।
प्रमुख शासन सचिव ने कहा कि हमें यह सुनिश्चित करना होगा कि विभिन्न योजनाओं का मूल्यांकन कर उसके प्रभावी क्रियान्वयन हेतु सुझावों को लागू करें। जिससे हम समय पर गुणवत्ता पूर्ण, अधिकारिक तथा प्रासांगिक संकेतक तैयार कर सके। जिससे राज्य के नीति निर्माण में नए आयामों की स्थापना कर विकास की पूर्ण संकल्पना को साकार किया जा सके।
 उन्होनें सांख्यिकी एवं आयोजना विभाग से जुडे अधिकारियों व कर्मचारियों की कार्यनिष्ठा की प्रशंसा करते हुए कहा कि राज्य की विकास योजनाओं को बनाने में इनकी महत्वपूर्ण भूमिका रहती है। उन्होंने सतत विकास के लक्ष्यों को प्राप्त करने में इस आवश्यकता पर भी बल दिया कि सतत विकास के 17 लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए विभाग की एक टास्क फोर्स का निर्माण किया जाए, जो एक-एक लक्ष्य की मॉनिटरिंग करें एवं उसके बेहतर क्रियान्वयन के लिए लगातार बहुमूल्य सुझाव समय-समय पर प्रदान करें।
सरकारी क्षेत्र में राज्य की पहली चैट सेवा की लॉन्चिग
प्रमुख शासन सचिव आयोजना एवं सांख्यिकी अभय कुमार ने इस मौके पर पहचान पोर्टल के लिए आरर्टिफिशियल इंटेलिजेंस आधारित सरकारी क्षेत्र में राज्य की पहली चैट सेवा ‘‘निकी’’ को भी लॉन्च किया गया। ‘‘निकी चैट बोट’’ नाम से लॉन्च की गई इस सेवा के जरिए राज्य का कोई भी व्यक्ति किसी भी समय विशेष डोमेन से जुड़े जन्म, मृत्यु एवं विवाह पंजीयन से सम्बन्धित विभिन्न प्रकार के उपयोगी प्रश्नों के उत्तर डिजिटल सहायक से प्राप्त कर सकता है। यह चैट सेवा ध्वनि आधारित है। जैसे ही कोई शब्द टाइप किया जाता है वैसे ही नागरिक क्वैरी तक पहुंचता है और सम्बन्धित उत्तर टाइप करके तथा बोलकर भी देता है।
 
सार पोर्टल की लॉन्चिग
अभय कुमार ने ‘‘सांख्यिकी सार’’ नाम से राजस्थान के आंकड़ों आधारित नए पोर्टल को भी लॉन्च किया। यह पोर्टल सांख्यिकी सूचनाओं के संकलन की उपयोगी ऑनलाइन सेवा है। यह पोर्टल राज्य के 80 विभागों से ऑनलाइन डेटा एकत्र करने में बहुउपयोगी है। इस पोर्टल की मदद से सांख्यिकी से जुड़ी ‘‘सांख्यिकी सार’’ पुस्तक को भी शीघ्र प्रकाशित किया जा सकेगा। इस सेवा के उपलब्ध हो जाने से सांख्यिकविद, अनुसंधानकर्ता एवं प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी करने वाले विद्यार्थियों को एवं राजकीय विभागों को एक ही स्थान पर जानकारी मिलेगी। इस अवसर पर मंचासीन अतिथियों ने विभाग के महत्वपूर्ण प्रकाशन “स्टेटिस्टिकल ईयर बुक ऑफ राजस्थान” तथा “स्टेटिस्टिकल सिस्टम इन राजस्थान” पुस्तकों का विमोचन किया। अतिथियों ने सांख्यिकी दिवस के अवसर पर राज्य में सांख्यिकी शोध एवं अनुसंधान बढावा देने वाले 15 अधिकारियों एवं कर्मचारियों को सांख्यिकी के विभिन्न क्षेत्रों में उत्कृष्ट एवं सराहनीय कार्य करने पर राज्य स्तरीय प्रो. पी.सी. महालनोबिस अवार्ड से सम्मानित किया गया।
कार्यक्रम में संयुक्त शासन सचिव, आयोजना अभिमन्यु कुमार, यूनिसेफ की स्टेट हैड ईसाबेले बरडेम, एनएसएसओ, उत्तर क्षेत्र जयपुर के उप महानिदेशक एस एल मेनारिया सहित भारत सरकार के राष्ट्रीय प्रतिदर्श सर्वेक्षण कार्यालय तथा राज्य सरकार के विभिन्न विभागों में कार्यरत सांख्यिकी से संबंधित अधिकारी एवं कर्मचारियों द्वारा भाग लिया गया। इस अवसर पर आर्थिक एवं सांख्यिकी के सेवानिवृत्त निदेशकों, विभिन्न शैक्षणिक संस्थानों, गैर सरकारी संगठनों एवं सांख्यिकी से जुड़े विभिन्न संस्थानों के विषय विशेषज्ञों द्वारा भाग लिया गया। समारोह में संवहनीय विकास लक्ष्य एवं अन्य सांख्यिकी विषयों पर विशेषज्ञों द्वारा प्रस्तुतिकरण एवं शोध पत्र पढ़े गये।
            कार्यक्रम के प्रारम्भ में आर.के. पाण्डे, निदेशक एवं पदेन संयुक्त सचिव, आर्थिक एवं सांख्यिकी निदेशालय द्वारा राज्य स्तरीय समारोह एवं कार्यशाला के उद्देश्य पर प्रकाश डाला गया तथा विभाग द्वारा की जा रही सांख्यिकी गतिविधियों के बारे में जानकारी दी।

No comments:

Post a comment

Pages