भारतीय प्रशासनिक सेवा में द्वितीय स्थान हासिल करने वाले अक्षत जैन को आईआईएस ने किया सम्मानित - Pinkcity News

Breaking News

Saturday, 18 May 2019

भारतीय प्रशासनिक सेवा में द्वितीय स्थान हासिल करने वाले अक्षत जैन को आईआईएस ने किया सम्मानित

जयपुरः17 मई 2019: आजकल के युवाओं के लिए बेहद ज़रूरी है कि वो जीवन में जो भी हासिल करने की चाह रखते हैं उसके लिए वो पूरी मेहनत, लगन व निष्ठा से प्रयास करें और हमेशा शिखर तक पहुंचने की कोशिश करें व कभी भी उससे कम में संतुष्ट न हों। यह कहना था भारतीय प्रशासनिक सेवा में द्वितीय स्थान हासिल करने वाले क्षिप्रा पथ स्थित इंडिया इंटरनेशनल स्कूल के पूर्व-छात्र अक्षत जैन का। अक्षत ने स्कूल की ओर से खास तौर पर उनके लिए आयोजित सम्मान समारोह में स्टूडेंट्स से रूबरू होते हुए यह विचार रखे। इसी के साथ ही अक्षत ने छात्र-छात्राओं से यह भी अपील की वो स्कूल में हर एक दिन हंसी-खुशी बिताएं क्योंकि यहां बिताए हुए पल कभी वापस नहीं आएंगे।
प्रशासनिक सेवा का विचार अक्षत को कब आया और उन्होंने इसके लिए किस तरह से खुद को तैयार किया ऑडियंस में बैठी स्टूडेंट से आए इस सवाल पर अक्षत का कहना था कि उन्हें स्नातक के फाइनल ईयर में इस क्षेत्र को अपनाने का ख्याल आया। इसी के साथ ही अक्षत ने यह भी कहा कि तैयारी के दौरान पॉज़िटिव अप्रोच बनाए रखना एवं पॉज़िटिव लोगों की संगत में रहना काफी सहायक सिद्ध होता है।
जब अक्षत से पूछा गया कि वो अपनी इस कामयाबी का श्रेय किसको देना चाहते हैं तो उन्होंने अपने माता-पिता के साथ-साथ स्कूल को श्रेय दिया और कहा कि उनकी इस सफ़लता में स्कूल द्वारा दिए गए संस्कार, प्रेरणा एवं सही मार्गदर्शन ने काफ़ी महत्वपूर्ण भूमिका रही है।
अक्षत जैन, इंडिया इंटरनेशनल स्कूल के 2012-13 बैच का छात्र है जिसने आईएएस परीक्षा में दूसरी ऑल इंडिया रैंक हासिल कर न केवल राजस्थान का बल्कि स्कूल का भी नाम रौशन किया है। अक्षत पांचवा आईआईएससीयन है जिसने प्रशासनिक सेवा की परीक्षा में सफ़लता हासिल की है और अक्षत के अलावा बाकी सभी महत्वपूर्ण पदों पर आसीन होकर राष्ट्रसेवा में अपना योगदान दे रहे हैं।
सम्मान समारोह की शुरूआत दीप प्रज्ज्वलन से हुई तत्पश्चात् स्कूल के शिक्षकों जिन्होंने अक्षत को पढ़ाया था, ने उससे जुड़े अनुभव साझा किए। तत्पश्चात् स्कूल के डायरेक्टर डॉ अशोक गुप्ता ने खुशी ज़ाहिर करते हुए कहा कि स्कूल के लिए गर्व की बात होती है जब उसके स्टूडेंट्स जीवन में सफ़लता के सौपान चढ़ते हैं। इसी के साथ ही डॉ अशोक गुप्ता एवं प्रिंसिपल माला अग्निहोत्री ने अक्षत को शॉल पहनाकर एवं सर्टिफिकेट देकर सम्मानित किया।

No comments:

Post a comment

Pages