पीडित किसान परिवारों को बीमा क्लेम दिलवाया जाएगा, सहकार फसली ऋण पोर्टल से होगी ऋण वितरण की नई व्यवस्था - Pinkcity News

Breaking News

Wednesday, 29 May 2019

पीडित किसान परिवारों को बीमा क्लेम दिलवाया जाएगा, सहकार फसली ऋण पोर्टल से होगी ऋण वितरण की नई व्यवस्था

 जयपुर 29 मई। सहकारिता मंत्री उदय लाल आंजना ने कहा कि सहकारिता में लोगों का विश्वास बना रहे यह हम सभी की जिम्मेदारी है। इसी लक्ष्य को ध्यान में रख कर कार्यो की क्रियान्विति को अंतिम रूप प्रदान किया जाए। उन्होंने कहा कि किसानों एवं आमजन के हितों से जुड़ी योजनाओं एवं निर्णयों का लाभ अंतिम व्यक्ति तक पहुंचे यह सुनिश्चित किया जाए।
आंजना बुधवार को अधिकारियों के साथ यहां अपेक्स बैंक के कॉन्फ्रेन्स हॉल में सहकारिता विभाग से जुड़े विभिन्न बिन्दुओं की समीक्षा बैठक को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि अधिकारी एवं कर्मचारी सत्यनिष्ठा के साथ दायित्वों का निर्वहन करे।
       सहकारिता मंत्री ने कहा कि किसानों के दुर्घटना बीमा की प्रक्रिया की समीक्षा की जाएगी तथा बीमा विशेषज्ञ को सम्मिलित करते हुए एक समिति गठित की जाएगी। यह समिति किसानों को बीमा लाभ के अच्छे विकल्प सुझाएगी। समिति की रिपोर्ट के आधार पर किसानों के हित में सर्वश्रेष्ठ बीमा पॉलिसी को पारदर्शिता एवं जवाबदेही के साथ लागू किया जाएगा।
       उन्होंने बीमा कम्पनी द्वारा किसानों के बीमा क्लेम के भुगतान में देरी करने पर कम्पनी के खिलाफ सख्त कार्यवाही करने के निर्देश देते हुए कहा कि किसानों के लंबित बीमा क्लेम को शीघ्र दिलवाया जाए तथा संबंधित जिलों के अधिकारियों की बीमा कम्पनी के साथ सामूहिक बैठक कर लंबित प्रकरणों का निस्तारण करे।
आंजना ने कहा कि जून के प्रथम सप्ताह में सहकार फसली ऋण पोर्टल से ऋण वितरण को पुख्ता व्यवस्था के साथ लागू किया जाए। उन्होंने कहा कि नए सदस्यों को बनाने के लिए विशेष कार्यक्रम बनाकर सहकारिता से जोड़ने की कार्यवाही को अंजाम दे। सहकारिता मंत्री ने कहा कि किसानों के साथ लापरवाही करने वालों को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।
       उन्होंने 8 मई तक सरसों एवं चना तथा 10 मई तक गेहूं की उपज बेचान करने वाले सभी किसानों को हुए भुगतान पर प्रसन्नता व्यक्त करते हुए कहा कि समय पर किसान का भुगतान होने से किसान परिवार को बहुत बड़ी राहत मिलती है। श्री आंजना ने निर्देश दिये की पूर्व में हुई खरीद में लगभग 70 किसानों को भुगतान आईएफएससी कोड की वजह से नहीं हो पाए थे उनका भुगतान राजफैड द्वारा किया जाए।
       सहकारिता मंत्री ने कहा कि फसल खरीद के लिए परिवहन एवं हैण्डलिंग की व्यवस्था जिला स्तरीय कमेटी द्वारा की जाए। उन्होंने कहा कि इस बार हुई इस व्यवस्था से परिवहन एवं हैण्डलिंग की कम दरे प्राप्त हुई है जो संस्था के हित में है। श्री आंजना ने हानि में चल रहे सुपर उपहार मार्केट के लिए एक्शन प्लान बनाने के निर्देश देते हुए कहा कि पूरे राज्य में कार्य कर रहे ऐसे उपभोक्ता भण्डारों को  लाभ में लाने के लिए विस्तृत कार्य योजना बनाकर अमल में लाई जाए।
       बैठक में प्रमुख शासन सचिव सहकारिता अभय कुमार, रजिस्ट्रार डॉ. नीरज के. पवन, प्रबंध निदेशक राजफैड ज्ञानाराम, संयुक्त शासन सचिव नारायण सिंह, विशिष्ट सहायक आशीष शर्मा, अतिरिक्त रजिस्ट्रार द्वितीय जी.एल. स्वामी, प्रबंध निदेशक एस.एल.डी.बी. राजीव लोचन शर्मा, प्रबंध निदेशक अपेक्स बैंक इन्दर सिंह, प्रबंध निदेशक उपभोक्ता संघ संजय गर्ग सहित संबंधित अधिकारी उपस्थित थे।

No comments:

Post a comment

Pages