गुणों को भगवान से जोड़े: अकिंचन - Pinkcity News

Breaking

Thursday, 2 May 2019

गुणों को भगवान से जोड़े: अकिंचन

मालवीय नगर में श्री हनुमत चरित्र कथा का समापन


जयपुर। हरिनाम संकीर्तन परिवार की ओर से मालवीय नगर सेक्टर 2 और 3 के बीच स्थित श्री शांतेश्वर महादेव मंदिर में आयोजित तीन दिवसीय श्री हनुमत चरित्र कथा के तीसरे दिन गुरुवार को व्यासपीठ से अकिंचन महाराज ने हनुमानजी महाराज की विशेषताओं पर प्रवचन किए। उन्होंने कहा कि सारे संसार में गुण और दोष  मिलते है। लेकिन हनुमानजी में केवल गुण ही गुण है दोष एक भी नहीं है। कुछ गुण सभी में होते हैं, लेकिन हम अपने गुणों को अभिमान से जोड़ देते हैं जबकि हनुमानजी अपने गुणों को भगवान से जोड़ दिया। यदि हम भी अपने गुणों को भगवान से जोड़ देंगे तो अभिमान से रहित हो जाएंगे। हनुमानजी में अभिमान कहीं देखने भी नहीं मिलता। हनुमानजी अपने गुणों और विशेषताओं को भगवान से जोड़ रखा है जबकि हम इसे अपनी स्वयं की उपलब्धि बताते हैं।
 बजरंग बली कहते हैं कि सब प्रभु की कृपा का फल है,इसमें मेरा कुछ भी योगदान नहीं। इतनी विनम्रता हमारे अंदर आ गई तो प्रभु कृपा अवश्य होगी। प्रवक्ता कृष्ण स्वरूप बूब और ओम प्रकाश अग्रवाल ने बताया कि आरती और प्रसाद वितरण के साथ कथा का विश्राम हुआ।

No comments:

Post a Comment

Pages