सूर्य मिलन साधना शिविर में रहेगी पच्चीस हजार शहरवासियों की भागीदारी - Pinkcity News

Breaking News

Wednesday, 29 May 2019

सूर्य मिलन साधना शिविर में रहेगी पच्चीस हजार शहरवासियों की भागीदारी

  • -डायबिटीज, ब्लड प्रेशर, थायराइड, मोटापा, एसिडिटी, घुटने का दर्द आदि बीमारियों का होगा निराकरण
  •  -निशुल्क शिविर के लिए प्रवेश पत्रों का किया जा रहा है वितरण 
  • -आयोजन स्थल का लिया शिविर के प्रमुख साधकों ने जायजा
 जयपुर। सन टू ह्यूमन  एलविन की ओर से संचालित मनुष्य मिलन साधना शिविर के लिए राजस्थान कॉलेज में मंच सहित साधकों के लिए तैयारियां की जा रही है। इसी क्रम में शहरवासियों के निशुल्क शिविर में आने के लिए एंट्री कार्ड वितरण का काम भी शुरू कर दिया गया। शिविर में भाग लेने वालों के लिए एंट्री कार्ड शिविर स्थल राजस्थान कॉलेज स्पोट्र्स ग्राउंड से सुबह 7 से 10 बजे तक एवं शाम को 5 से 7 बजे तक वितरित किए जा रहे है। शिविर के प्रमुख प्रचार-प्रसार प्रभारी राजेश नागपाल ने बताया इंदौर से आए परमालयजी के विशेष प्रतिनिधि जनक आनंद के नेतृत्व में शिविर की संपूर्ण रूपरेखा तैयार की जा रही है। साधकों के बैठने के लिए लगभग सवा दो लाख foot का एरिया तैयार किया जा रहा है आयोजन को सफल बनाने के लिए राजेश नागपाल, अजय मित्तल, कमल सोमानी आलोक जैन तिजारिया, संजय महेश्वरी सहित सौ से ज्यादा सदस्यों ने कमान संभाल रखी है।
 सूर्य एवं शाम को चंद्र नाड़ी के कराए जाएंगे प्रयोग
शिविर का आयोजन 1 जून से 10 जून तक राजस्थान कॉलेज के खेल मैदान पर किया जा रहा है। इसके लिए शिविर से जुड़े साधकों ने साफ-सफाई सहित शिविरार्थियों को हर संभव सुविधा के लिए आयोजन स्थल का जायजा लिया। शिविर में सभी का प्रवेश पूर्णता निशुल्क रहेगा तथा पच्चीस हजार शहरवासी अपनी भागीदारी निभाएंगे। शिविर में बताया जाएगा कि लोगों को डायबिटीज, ब्लड प्रेशर, थायराइड, मोटापा, एसिडिटी, घुटने का दर्द आदि बीमारियां क्यों होती है और हम स्वयं उन्हें अपने शरीर के माध्यम से तथा भोजन के माध्यम से कैसे ठीक कर सकते है, इसके सूत्र दिए जाएंगे। शिविर के पहले 3 दिन शरीर की शक्तियों का आभास कराया जाएगा। रोजाना सुबह के सत्र में सूर्य नाड़ी को जागृत करने का प्रयोग एवं शाम को चंद्र नाड़ी जागृत करने का प्रयोग कराए जाएंगे।
अन्न से ब्रह्मï की यात्रा
साथ ही अन्य विशेष जानकारियों को प्रोजेक्टर के माध्यम से समझाया जाएगा। अगले 3 दिन मन की शक्तियां कैसे कार्य करती है उनसे में अपना जीवन कैसे विकसित कर सकते है, इसके सूत्र दिए जाएंगे एवं प्रयोग कराए जाएंगे। उसके अगले 3 दिनों में चेतना की शक्तियों का आभास कराया जाएगा। चेतना जीवन को कैसे प्रकाशित कर सकती है अगले 3 दिनों में इसकी जानकारी दी जाएगी। सुबह के सत्र में 15 से 20 आइटम का नाश्ता एवं शाम के सत्र में 7 तरह के पेय दिए जाएंगे जो पूर्णता नि:शुल्क होंगे तथा अन्न से ब्रह्मï की यात्रा भी कराई जाएगी।

No comments:

Post a comment

Pages