जैन धर्म के छठवें तीर्थंकर भगवान पद्मप्रभ की हीरक जयंती 8 से 12 मई तक मनाई जायेगी - Pinkcity News

Breaking

Tuesday, 7 May 2019

जैन धर्म के छठवें तीर्थंकर भगवान पद्मप्रभ की हीरक जयंती 8 से 12 मई तक मनाई जायेगी

  • बाड़ा पदमपुरा में पांच दिन तक आयोजित होगा भव्य समारोह
जयपुर । जैन धर्म के छठवें तीर्थंकर भगवान पद्मप्रभ की अतिशयकारी प्रतिमा के प्रादुर्भाव को 75 वर्ष पूरे होने पर 8 मई से 12 मई तक हीरक जयंती का भव्य महोत्सव मनाया जायेगा। शिवदासपुरा स्थित श्री दिगंबर जैन मंदिर बाड़ा पदमपुरा में यह भव्य समारोह आचार्य वसुनंदी महाराज ससंघ, आचार्य शशांक सागर महाराज व गणिनी आर्यिका गौरवमती माताजी ससंघ की सानिध्यता में संपन्न होगा। महोत्सव के पोस्टर का विमोचन मंगलवार को नारायण सिंह सर्विâल स्थित भट्टारकजी की नसियां में किया गया।
आयोजन समिति के अध्यक्ष एडवोकेट सुधीर जैन व महामंत्री हेमंत सौगाणी ने बताया कि 8 मई को प्रतिक्षा महोत्सव मनाया जायेगा। इसमें नित्याभिषेक के बाद सुबह सवा नौ बजे भव्य रथ का अनावरण होगा। शाम सात बजे दीप अर्चना होगी। 9 मई को उद्भव महोत्सव होगा। सवेरे सवा सात बजे भगवान पद्मप्रभ की प्रतिमा का भव्य अभिषेक किया जायेगा। इसके बाद पद्मप्रभ जिनालय का लोकार्पण करके ध्वज यात्रा शुरू की जायेगी। 75-75 महिलाओं का छह गु्रप इस ध्वज यात्रा में अग्रणी रहेगा। 10 मई को चारित्र उत्सव तथा 11 मई को कल्याण महोत्सव होगा। समारोह के अंतिम दिन १२ मई को नित्याभिषेक ‘75 मंडलों पर पद्मप्रभ विधान’  होगा। दोपहर सवा 12 बजे पांच विशेष रथों पर धूमधाम से शोभायात्रा निकाली जायेगी। इसके बाद धर्मसभा, सम्मान समारोह  व महाआरती जैसे कार्यक्रम भी होंगे।
प्रचार समिति के सहसंयोजक विनोद जैन, अभिषेक जैन व नरेश जैन ने बताया कि 27 अप्रैल 1944 को भगवान पद्मप्रभ की प्रतिमा का भूगर्भ से प्रादुर्भाव हुआ था। यहां आराध्य देव के दर्शनों के लिए देश-विदेश से श्रद्धालु आते है। इस निर्माणाधीन मंदिर का वर्तमान शिखर 85 पुâट ऊंचा है। यहां भगवान पद्मप्रभ की 27 पुâट ऊंची भव्य खड़गासन प्रतिमा खुले आकाश तले विराजमान है।

No comments:

Post a Comment

Pages