होप्स एंड टैटर्स की स्पेशल लॉन्च पार्टी आयोजित, मेहमानों ने लिया जर्मनी की दिलचस्प डिशेज का जायका - Pinkcity News

Breaking

Monday, 22 April 2019

होप्स एंड टैटर्स की स्पेशल लॉन्च पार्टी आयोजित, मेहमानों ने लिया जर्मनी की दिलचस्प डिशेज का जायका

जयपुर 22 अप्रैल | शनिवार को शहर के गणमान्य लोगों ने (जिनमें मीडिया जगत की जानी मानी हस्तियां शामिल थी)  जर्मनी की ट्रेडिशनल डिशेज का जायका लिया।  मौका था सहकार मार्ग पर खुले रेस्टोरेंट होप्स एंड टैटर्स की स्पेशल स्पेशल लांच पार्टी का। इस मौके पर फ़ूड क्रिटिक, फैशन डिज़ाइनर, बिज़नेसमैन, सोशल वर्कर , मीडिया जगत से जुडे लोगों सहित अनेक मेहमानों ने जर्मनी में  बनने वाले कुजीन का अनुभव लिया|
न्यूज नेशन के स्टेट एडीटर अजय शर्मा , फर्स्ट इंडिया के सीएमडी जगदीश चन्द्र, एनसीसी अफसर निखिल जोस,  पंजाब केसरी के स्टेट हैड अजय ढढ्ढा, समाचार जगत के एडीटर तरुण रावल, एडवोकेट ललित शर्मा, शिक्षाविद अजय जैन, ममता शेखावात, इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ होटल मैनेजमेंट के प्रिंसिपल के एस नारायणन, श्रवणी पुरी, पुलिस ऑफिसर संदीप चौहान, मॉडल ऋषि मिगलानी समेत अनेक गणमान्य लोग मौजूद रहे ।

होप्स एंड टैटर्स की ओनर नीति  कासलीवाल और आयुष जैन ने बताया कि जर्मनी में सिर्फ नॉन-वेज ही पसंद नहीं किया जाता, बल्कि वहां  लोग वेजीटेरियन डिशेज चाव से पकाते है| इसी कांसेप्ट पर जयपुर में इस नए  रेस्टोरेंट को खोला गया, क्योंकि आज भी जयपुर के लोग वेजीटेरियन डिशेज़ ज्यादा पसंद करते हैं|
नीति कासलीवाल ने बताया कि रेस्टोरेंट के मेनू में यूरोप  के  गांवों से लेकर बड़े शहरों तक के व्यंजन शामिल हैं। अधिकांश व्यंजन स्थानीय घरेलू भोजन हैं। हर रेसिपी के पीछे एक कहानी और अनुभव  है। रेस्टोरेंट की सजावट एक शांत और आरामदायक स्थान को दर्शाती है, जहां भोजन प्रेमी आराम भी कर सकते हैं |
रेस्टोरेंट की ओनर जयपुर में पली बढी नीति कासलीवाल बताती है कि क़रीब एक दशक तक जर्मनी में रहने के दौरान उन्होंने वहां के फूड कल्चर को करीब से जाना और जब उन्होंने एक दशक बाद जयपुर आने का फैसला लिया तो वहां के जायके को उन्होंने जयपुरवासियों को परोसने का फैसला लिया ।

नीति कासलीवाल ने फाइनेंसियल मैनेजमेंट में MBA किया और तब यह बिलकुल नहीं सोचा था कि वे कभी भी एक रेस्टोरेंट खोलकर  लोगों को जर्मनी और यूरोप की डिशेज सर्व करेगी ।  उन्होंने कहा कि - जर्मनी में रहने के दौरान वे वहां के फूड और उसको बनाने की प्रक्रिया को वे घंटों ऑबजर्व करती थी और फिर खाना पकाने का काम किया करती थी ।  अब वे यूरोप और जर्मनी के गाँव की वेजीटेरियन डिशेज को जयपुर के लोगों को यहाँ पर सर्व कर रही है जिसे खूब सराहा जा रहा है ।

No comments:

Post a Comment

Pages