महारानी गायत्री देवी को समर्पित आॅयल एवं एक्रिलिक रंगों की पेन्टिग प्रदर्शनी - Pinkcity News

Breaking

Tuesday, 30 April 2019

महारानी गायत्री देवी को समर्पित आॅयल एवं एक्रिलिक रंगों की पेन्टिग प्रदर्शनी

पद्मश्री शोवना नारायण प्रख्यात नृत्यांगना और एमजीडी स्कूल जयपुर की पूर्व कला प्रभारी बृजबाला अनेजा करेंगी उद्घाटन
दिल्ली के लोधी रोड स्थित इण्डियन हैबिटेट सेन्टर में आयोजित होगी
महारानी गायत्री देवी को समर्पित आॅयल एवं एक्रिलिक रंगों  की पेन्टिग प्रदर्शनी



maharani gayatri devi के लिए इमेज परिणामजयपुर, 30 अपै्रल, 2019। राजमाता गायत्री देवी की शताब्दी वर्ष आयोजन के अवसर पर जयपुर की जुही शर्मा की राजमाता गायत्री देवी को समर्पित कलात्मक पेन्टिंग की प्रदर्शनी ‘‘वैग्निटी आॅफ पैशन‘‘, विजुअल आर्ट गैलेरी इण्डिया हैबिटेट संेन्टर दिल्ली में 3 से 7 मई तक आयोजित की जाएगी। जूही की पहली एकल प्रदर्शनी का उद्घाटन राजमाता गायत्री देवी ने ही किया था और उनकी कलाकृतियों को उन्ह¨नें काफी सराहा था।

जूही जयपुर निवासी महारानी गायत्री देवी स्कूल (एमजीडी) की छात्रा रह चुकी हैं और राजमाता गायत्री देवी के व्यक्तिव और व्यवहार से काफी प्रभावित रहीं हैं। विवाहोपरांत तीस वर्ष पूर्व वे दिल्ली में बस गई, लेकिन राजस्थान और खास कर जयपुर का वैभव उनकी स्मृति से हट नहीं पाया। उन्होंने अपनी पेन्टिग्स में जयपुर का शीशमहल, हवामहल, सिटी पैलेस और गोविन्ददेव जी के मंदिर का द्वार चित्रित किया है और इन सभी कलाकृतियांे में राजमाता गायत्री देवी के युवावस्था के कोलाज बनाऐं हैं। अपनी पेन्टिंगस में उन्होंने आॅयल एवं एक्रिलिक रंगों के साथ साथ रियल जूलरी, मीनाकारी रेजिंग, प्योर गोल्ड प्लेटेड, कुन्दन, मीनाकारी आदि का संयोजन कर उन्हें जीवन्त बनाने की कोशिश है और उनकी यह कला राजमाता गायत्री देवी की महानता से प्रेरित है।
गौरलतब है कि राजमाता गायत्री देवी की 100वीं जन्म शताब्दी पर उनके पौत्र, महाराज देवराज सिंह और पोती, राजकुमारी लालित्य कुमारी अ©र महारानी गायत्री देवी चैरिटेबल ट्रस्ट द्वारा शताब्दी वर्ष में अनेक आयोजन करवाये जा रहेे हैं। 23 मई 2019, जो राजमाता गायत्री देवी का जन्मदिवस है, से स्मरणोत्सव शुरू हो कर यह आयोजन अगले साल 23 मई 2020 तक चलेंगे। महारानी गायत्री देवी की जयपुर एवं जयपुर वासियों के प्रति गहन प्रतिबद्धता, लगाव एवं प्रेम रहा है। उनका सम्पूर्ण जीवन जयपुर की समृद्धि, सुंदरता और विकास हेतु समर्पित रहा है। प्रत्येक शहरवासी से भी उनकी यही अपेक्षा रही है, कि वे जयपुर को दुनियाँ का हरा भरा, स्वच्छ, सुंदर और सर्वश्रेष्ठ शहर बनाने में भरपूर योगदान दें।

No comments:

Post a Comment

Pages