विंग्स फॉर लाइफ वल्र्ड रन में दौड़ें 5 मई को - Pinkcity News

Breaking

Tuesday, 30 April 2019

विंग्स फॉर लाइफ वल्र्ड रन में दौड़ें 5 मई को

जयपुर, 30 अप्रैल 2019। विंग्स फॉर लाइफ  वल्र्ड रन आपको अपने जूते बांधने और जवाहर सर्किल जयपुर के ट्रैक्स पर आकर 5 मई 2019 को विंग्स फॉर लाइफ  वल्र्ड रन एप में भाग लेने के लिये आमंत्रित कर रहा है। अपने छठे वर्ष में यह दौड़ धावकों का स्वागत जयपुर की गर्मी को चुनौती के लिये कर रही है, इसमें दौड़ें, मार्ग पर अपने मित्रों से मिलें, जो इंडस यूनिवर्सिटी, जवाहर सर्किल के भीतर और आस-पास से होकर गुजरेगा, जब तक कि वर्चुअल कैचर कार आपको नहीं पकड़ती है।
विंग्स फॉर लाइफ  वल्र्ड रन के वर्ष 2019 के संस्करण में इवेंट की प्रसिद्ध मूविंग फिनिश लाइन, द कैचर कार के लिये गति का नया कॉन्सेप्ट होगा। इस वैश्विक दौड़ को अधिक रोमांचक बनाने के लिये कैचर कार की गति बढेगी, खासतौर पर दौड़ के अंतिम चरणों में। 5 मई को वल्र्डवाइड स्टार्ट टाइम सुबह 11:00 बजे यूटीसी होगा और कैचर कार 30 मिनट बादए यानि 11:30 बजे यूटीसी पर शुरू होगी, ताकि सभी स्तरों के धावक अपनी शुरूआत का आनंद ले सकें। प्रत्येक आधे घंटे के बाद कैचर कार की गति बढेगी, दौड़ के प्रथम दो घंटों में कुछ बदलाव हैं और इसके बाद गति तेज होगी। अंतिम प्रतिभागी 65 से 70 कि.मी. पर पकड़े जाएंगे, एक छोटी रेस के लिये जिसका फिनिश अधिक रोमांचक होगी!
आपके लोकेशन में चाहे दिन हो या रात, चमकता सूरज हो या भारी बारिश-आप विश्व के साथ दौड़ेंगे और बेहतरीन अनुभव लेंगे। आपका नाम ग्लोबल रिजल्ट लिस्ट में भी आएगा!
समय: शाम 4:30 बजे से
तिथि: रविवार 5 मई 2019
स्थान: जवाहर सर्किल जयपुर
विंग्स फॉर लाइफ  वल्र्ड रन की पहल पर भारत के सर्वश्रेष्ठ ऑफ रोड रेसर सीएस संतोष ने कहा, मेरे मित्र डैनियल मैकॉय को रीढ़ में चोट लगी थी। वह तेजी से ठीक हो रहे हैं और बेहतर होने के लिये लगातार मेहनत कर रहे हैंए मैं देख रहा हूँ कि वे बाहर जाते हैं और अपनी पसंद के सभी काम करते हैं जो उनके मानसिक स्वास्थ्य के लिये भी अच्छा है और उनका दृढ़ निश्चय दर्शाता है।

मुझे लगता है कि विंग फॉर लाइफ  फाउंडेशन बहुत महत्वपूर्ण है क्योंकि जो उनके साथ हुआ वह किसी के भी साथ हो सकता था और रीढ़ की अक्षमता का उपचार मेडिकल साइंस की तरक्की है। कुछ वर्ष पहले एक दौड़ में मुझे कैचर कार चलाने का अनुभव बहुत अच्छा लगा था क्योंकि मैंने धावकों की दौड़ का करीब से अनुभव लिया! ऐसे काम के लिये हजारों लोगों को दौड़ते देखना भी सुखद थाए जो हम सभी को करना चाहिये! मैं आजीविका के लिये मोटरसाइकल रेस करता हूँ और जानता हूँ कि जीवन के सभी क्षेत्रों के कई लोगों में दुर्भाग्यवश विकलांगता है और मैं कामना करता हूँ कि इस फाउंडेशन की सहायता से एक दिन मेरे मित्र मैकॉय और सुरेश जैसे लोग अपनी पूरी क्षमता को पुन: प्राप्त करें।
विंग्स फॉर लाइफ  वल्र्ड रन में भाग लेने पर भारत के बॉल्डरिंग सेंसैशन तुहिन सातरकर ने कहा, विंग्स फॉर लाइफ वल्र्ड रन ऐसा इवेंट है जिसमें भाग लेने की कोशिश मैं हर साल करता हूँए यह कि आप कहीं से भी दौड़ सकते हैं इसे सरल बनाता है! पिछले वर्ष मैं मुंबई के एप रन में दौड़ा जिसमें मुझे बहुत आनंद आया। मैं ऐसे काम में योगदान देकर खुश था जो वास्तव में महत्वपूर्ण है। क्लाइंबिंग के खेल में कुछ लोगों को रीढ़ की चोट लगी है। ऐसा ही एक खिलाड़ी कुछ वर्ष पूर्व भयानक तरीके से गिरा था उसे रीढ़ में चोट लगी और उसका जीवन जटिल हो गया। उसके जैसे अन्य लोगों के लिये भी इस पहल से वह शोध हो सकता है जिसकी फंडिंग विंग्स फॉर लाइफ  करता है। इस वर्ष मैं एक बार फिर मुंबई में दौड़ूंगा और मेरे साथ कुछ दोस्त भी होंगे जो योगदान देंगे!
वर्ष 2018 में 11 शहरों के एप रन में 370 से अधिक लोगों ने भाग लिया था. मुंबई, कोलकाता, दिल्ली, चंडीगढ़, गुवाहाटी, गोवा, अहमदाबाद, पुणे, बैंगलोर, चेन्नई और हैदराबाद। इस प्रकार भारत ने 6600 यूरो (5.28 लाख रू. से अधिक) एकत्र किये जो रीढ़ की चोट के उपचार के शोध हेतु दिये गये। 

No comments:

Post a Comment

Pages