‘आशीर्वाद एवं अवॉर्ड सेरेमनी 2019’ में जूनियर्स ने दी सीनियर्स को ट्रिब्यूट - Pinkcity News

Breaking News

Friday, 5 April 2019

‘आशीर्वाद एवं अवॉर्ड सेरेमनी 2019’ में जूनियर्स ने दी सीनियर्स को ट्रिब्यूट


जयपुरः05 अप्रैल 2019: विश्वविद्यालय में बिताए पल हर स्टूडेंट के लिए खास होते हैं। हंसते-मुस्कुराते कब बिछड़ने का समय आ जाता है पता ही नहीं चलता। सीनियर्स और जूनियर्स का खास और अनोखा रिश्ता एक मिसाल का काम करता है जहां सीनियर्स जूनियर्स के साथ दोस्ती निभाते हैं तो वहीं जूनियर्स भी सीनियर्स को अपना प्रेरणा स्त्रोत मानते हैं। इसी बीच एक ऐसा मौका आता है जब सीनियर्स को जूनियर्स का साथ छोड़ ज़िन्दगी में आगे बढ़ना होता है लेकिन जूनियर्स इस अवसर को खास बनाने में कोई कसर नहीं छोड़ते। कुछ ऐसा ही नज़ारा देखने को मिला द आई आई एस (डीम्ड टू बी यूनिवर्सिटी) द्वारा शुक्रवार को आयोजित आर्शीवाद एवं अवॉर्ड सेरेमनी 2019 में जहां जूनियर्स ने सीनियर्स को ट्रिब्यूट देकर भावभीनी विदाई दी।

इसी के साथ ही इस समारोह में सत्र 2018-19 में विभिन्न फुल टाइम कोर्सेज़ एवं एड-ऑन कोर्सेज़ में द्वितीय एवं तृतिय स्थान ग्रहण करने वाली छात्राओं, ऑफिस बियरर्स काउंसिल के सदस्य एवं खेल-कूद में अव्वल आने वाली कुल 520 छात्राओं को सम्मानित किया गया। इस अवसर पर स्नातक व स्नातकोत्तर, एड-ऑन एवं डिप्लोमा एवं पीएचडी कोर्सेस के 253 स्टूडेंट्स, 100 ऑफिस बियरर्स, 138 स्पोर्ट्स में बेहतरीन प्रदर्शन करने वाली छात्राओं को पुरस्कृत किया गया। गौरतलब है कि इन विभिन्न अकादमिक एवं अन्य गतिविधियों में प्रथम आने वाली छात्राओं को एनुअल फंक्शन विरासत-2019 में पुरस्कृत किया गया था।

द्वितीय श्रेणी ग्रहण करने वाली छात्राओं को सर्टिफिकेट एवं ट्रॉफीज़ के साथ-साथ 1500 रूपये का चेक दिया गया वहीं तृतिय स्थान प्राप्त करने वाली छात्राओं को सर्टिफिकेट एवं ट्रॉफीज़ देकर पुरस्कृत किया गया। इसी के साथ ही स्वच्छ भारत समर इंटर्नशिप प्रोग्राम के तहत 12 छात्राओं को 5000 रूप्ये की नकद राशि प्रदान की गई वहीं 10 रोटरैक्टर्स को स्वार्थरहित होकर कार्य करने हेतु ट्रॉफी देकर सम्मानित किया गया।

अवार्ड सेरेमनी के पश्चात् गणेश वंदना से कार्यक्रम की शुरूआत हुई। विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ अशोक गुप्ता ने छात्राओं का मनोबल बढ़ाते हुए अपने उद्बोधन में विश्वास जताया कि वे परीक्षा में बेहतरीन परिणाम लाकर उसी तरह अपने विश्वविद्यालय का नाम रौशन करेंगी जिस तरह से पिछले कई वर्षों से छात्राएं अपने परिश्रम व लगन से विश्वविद्यालय को विश्व प्रसिद्धि दिलाती आ रही हैं। साथ ही डॉ गुप्ता ने यह भी कहा कि जब संस्थान की पूर्व छात्राएं जीवन में सफलता के सोपान चढ़ते हुए दिखाई देती हैं तो संस्थान को उनपर गर्व होता है और साथ ही साथ अन्य छात्राओं को उनसे प्रेरणा भी मिलती है।

इस अवसर पर विश्वविद्यालय की स्वरकोकिलाओं ने जहां गज़ब का है दिन, आई विल बी ऑल राईट, ये दिल न होता बेचारा, ये दोस्ती हम नहीं तोड़ेंगे, याद आ रहा है, ये लड़की है दीवानी जैसे दोस्ती की मिसाल गीतों के ज़रिए जूनियर्स ने सीनियर्स के साथ बिताए खूबसूरत पलों को बयां किया तो वहीं सीनियर्स ने भी आई एम गोना मिस माय कॉलेज डेज़, दिल चाहता है, अल्लाह वारियां आदि यादगार गीतों के ज़रिए यह जताया कि उनकी दोस्ती विश्वविद्यालय तक खत्म नहीं होगी बल्कि वो इसके बाद भी कायम रहेगी।

आई आई एस विश्वविद्यालय ने हमेशा ही भारतीय धरोहर, परम्परा एवं संस्कार को बढ़ावा दिया है एवं विश्वविद्यालय की नृत्यांगनाओं ने भी क्लासिकल, इंडियन और फोक डांस को ही प्राथमिकता एवं महत्ता दी है। इसलिए इस बार जूनियर डांसर्स ने अपने सीनियर्स डांसर्स को ट्ब्यिट देने के मकसद से पिछले सालों में उनके द्वारा सिग्नेचर डांस मूव्स का नमूना पेश किया। जूनियर्स ने तेरी दीवानी, शामें मलंग सी, दिल ये बेचैन है, इन आंखों की मस्ती, तू तू है वहीं, यारा तेरी यारी उम्र सारी साथ है, अभी ना जाओ छोड़ कर जैसे गानों पर वही स्टेप्स कॉपी किए जिसपर उनके सीनियर्स ने विभिन्न गतिविधियों में डांस प्रस्तुति दी थी। इस ट्रिब्यूट के ज़रिए जूनियर्स ने सीनियर्स से दिल के तार छेड़़ दिए और सीनियर्स द्वारा की गई मेहनत एवं पुरानी यादों को ताज़ा कर दिया।

ऐसे में आईआईएसयू थिएट्रिकल सोसायटी के स्टूडेंट् भी पीछे नहीं रहे। इन्होंने भी अपने हास्य नाटक के ज़रिए यह दर्शाया कि किस तरह से सीनियर्स उनकी ज़िन्दगी का अहम हिस्सा बन गए और उनके साथ विश्वविद्यालय में बिताया गया हर पल खास एवं यादगार है।

तत्पश्चात् विदाई समारोह आशीर्वाद 2019 में संस्थान की परंपरा का निर्वहन करते हुए वरिष्ठ विद्यार्थियों ने कनिष्ठ विद्यार्थियों को दीप थमाकर अपने दायित्व सौंपे। साथ ही हैड गर्ल्स निहारिका जोशी (यूजी) एवं रक्षिता सिंह भदौरिया (पीजी) ने विश्वविद्यालय में बिताए अनुभव साझा किए एवं अपने जूनियर्स को खूब सारा प्यार व शिक्षकों को धन्यवाद ज्ञापित किया।

तत्पश्चात् बारी आई विश्वविद्यालय में निभाई भूमिका के अनुसार सीनियर्स को टाइटल्स देने की। इस श्रेणी में निमिशा अग्रवाल आईआईएसयुज़ क्राउनिंग ग्लौरी, “शाइनिंग स्टार ऑफ आईआईएसयु निहारिका जोशी, “ज्यूल ऑफ आईआईएसयू रक्षिता सिंह, “वंडर वुमन ऑफ आईआईएसयू सलोनी अग्रवाल, “ग्रेस पसॉर्निफाइड मनस्विनी शर्मा, “क्वीन ऑफ कुट्योर स्निग्धा जैन एवं विधि लूणावत, “डांसिंग डीवा कृति कंवर एवं वुमन ऑफ सब्सटांस काव्या मुखीजा चुनी गईं।

No comments:

Post a comment

Pages