इंडो इंटरनेशनल प्रीमियर कबड्डी लीग का पहला सीजन 13 मई से शुरू - Pinkcity News

Breaking News

Wednesday, 10 April 2019

इंडो इंटरनेशनल प्रीमियर कबड्डी लीग का पहला सीजन 13 मई से शुरू


  • -भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व सलामी बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग आईपीकेएल में अतिरिक्त रोमांच लेकर आए।
  • -लीग के पहले सीजन का आयोजन 13 मई से चार जून तक पुणे, मैसूर और बेंगलुरू में
  • -पहले सीजन में कुल 44 मैच होंगे। इसमें आठ टीमों के 160 खिलाड़ी शिरकत करेंगे। इनमें 16 विदेशी खिलाड़ी।
  • -सभी खिलाड़ियों को पूर्व निर्धारित वेतन और पुरस्कार राशि के अलावा रेवेन्यू में 20 फीसदी हिसा मिलेगा।
  • -लीग का प्रसारण वियाकॉम 18 चैनल्स के अलावा डीडी स्पोर्ट्स पर कई भाषाओं में होगा।

नई दिल्ली: एनकेएफआई और डीस्पोर्ट ने इंडो इंटरनेशनल प्रीमियर कबड्डी लीग (आईपीकेएल) के पहले संस्करण के तारीखों की घोषणा की। भारत ने पहली बार आयोजित होने जा रहे ब्रैंड न्यू स्पोर्टिंग लीग- आईपीकेएल पहली बार खिलाड़ियों को भी आय में हिस्सेदार बनाए। खिलाड़ियों को उनके निर्धारित वेतन और पुरस्कार के अलावा लीग से होने वाली आय का एक हिस्सा मिलेगा।

भारतीय के पूर्व क्रिकेट स्टार वीरेंद्र सहवाग ने इस खेल को अपना प्यार और समर्थन देते हुए लीग के लोगो का अनावरण किया। नई दिल्ली में आयोजित समारोह में वीरेंद्र सहवाग ने कहा-जकार्ता एशियाई खेलों में जब एशियाई कबड्डी में भारतीय टीम का स्वर्णिम सफर समाप्त हुआ था, तब पूरे देश को तकलीफ हुई थी। कबड्डी देश का गौरव है। यह उन खेलों में शामिल है, जिसे हम में से हर किसी ने कभी न कभी जरूर खेला है। आईपीकेएल के आयोजक जब मेरे पास आए तो मुझे लगा कि इनके विचार और जुनून निश्चित तौर पर भारत को एशियाई और विश्व कबड्डी पटल पर खोया गौरव दोबारा हासिल करने में मदद करेंगे। मैं इस नए सफर के लिए आईपीकेएल और इसमें हिस्सा लेने वाले खिलाड़ियों के लिए मंगलकामना करता हूं।

आईपीकेएल का आयोजन 13 मई से 4 जून, 2019 तक तीन स्थानों-पुणे, मैसूर और बेंगलुरू में होगा। पहले संस्करण में आठ टीमों के बीच कुल 44 मैच होंगे। इसमें कुल 160 खिलाड़ी शिरकत करेंगे, जिनमें 16 विदेशी खिलाड़ी हैं। सभी खिलाड़ियों का चयन देश भर में आयोजित ट्रायल्स से हुआ है और यह ट्रायल सभी के लिए खुला था।

लीग का सीधा प्रसारण डीस्पोर्ट (अंग्रेजी), एमटीवी एवं एमटीवी एचडीप्लस (हिंदी), डीडीस्पोर्ट (हिंदी) के अलावा कई क्षेत्रीय नेटवकर्स पर भी होगा। एमटीवी एंटरटेनमेंट ब्रांड और लीग का हिंदी ब्राडकास्ट पार्टनर है।

आईपीकेएल के निदेशक रवि किरन ने कहा-पूरा देश कबड्डी से इंतेहां प्यार करता है और हमारा यह प्रयास इस लगातार बढ़ते खेल को और आगे ले जाने तथा इसके इर्द-गिर्द एक पारदर्शी व्यवस्था कायम करने की दिशा में एक कदम है। यह लीग इस खेल की पहुंच को बढ़ाने और मजबूत करने की दिशा में एक क्रांतिकारी कदम है। यह पहला मौका है जब खिलाड़ियों को भी राजस्व साझेदारी के फार्मूले का हिस्सा बनाया गया है। इससे यह साबित होता है कि खिलाड़ियों के हित हमारे लिए सर्वोपरि हैं।

लीग के आधिकारिक प्रसारणकर्ता डीस्पोर्ट आरसी वेंकटेश (एमडी एवं सीईओ, लेक्ससपोर्टेल) ने भी इस अवसर पर अपने विचार रखते हुए कहा-दर्शकों और प्रशंसकों के बीच लाइव स्पोर्ट एक्शन लाने की दिशा में हमारे प्रयासों का यह शानदार पल है। आईपीकेएल इसलिए खास है क्योंकि एनकेएफ का यह विजन उसके साथ है कि फैन और खिलाड़ी किसी भी खेल के दो सबसे अहम साझेदार हैं और इसी कारण एनकेएफ ने इन्हें सबसे अधिक महत्व दिया है। मुझे पूरा यकीन है कि हम आईपीकेएल के माध्यम से देश में नई प्रतिभाओं को उभार सकेंगे और इस सदियों पुराने खेल की मर्यादा को उसके मूल रूप में बरकरार रख सकेंगे।

आईपीकेएल के शुरुआती चरण में 20 मैच होंगे और ये मैच पुणे के बालेवाड़ी स्टेडियम में 13 से 21 मई तक खेले जाएंगे। इसके बाद दूसरे चरण में 17 मैच होंगे और ये मैच मैसूर के चामुंडेई विहार स्टेडियम में 24 से 29 मई तक होंगे।

अंतिम चरण के मुकाबले एक जून बेंगलुरू में होंगे और इसके तहत सात मुकाबले होंगे। इसमें ग्रैंड फिनाले भी शामिल है, जो चार जून को कांतिरावा स्टेडियम में होगा। लीग में कुल आठ टीमें हिस्सा ले रही हैं। इनके नाम बेंगलुरू राइनोज, चेन्नई चैलेंजर्स, दिलेर दिल्ली, तेलुगू बुल्स, पुणे प्राइड, हरियाणा हीरोज, मुम्बई चे राजे और राजस्थान राजपूत्स हैं।

हर टीम में दो विदेशी खिलाड़ी और एक मार्की खिलाड़ी शामिल होंगे। इसके अलावा हर टीम में पांच रेडर, सात डिफेंडर और तीन आलराउंडर होंगे। प्रत्येक टीम में एक कोच और एक फिजियो भी होगा।

सभी मैचों का हिंदी में सीधा प्रसारण एमटीवी एवं एमटीवी एचडी के अतिरिक्त डीडी स्पोर्ट तथा क्षेत्रीय चैनलों पर होगा। इसके अलावा डीस्पोर्ट प्राइम टाइम रात्रि 8 से 10 बजे के बीच इंग्लिश में लीग के मैचों का प्रसारण करेगा।

टीवी व्यूअरशिप के लिहाज से कबड्डी देश के सबसे लोकप्रिय खेल के तौर पर उभर है। टेलीविजन इंडस्ट्री की रिपोर्ट के अनुसार बीते साल 62.1 करोड़ लोगों ने इस खेल को देखा। साल 2015 में यह संख्या 31.0 करोड़ थी। इस तरह यह देश में क्रिकेट के बाद सबसे अधिक देखा जाने वाला खेल है।

No comments:

Post a comment

Pages