कांग्रेस की किसान विरोधी नीति से किसान परेशान : प्रभुलाल सैनी - Pinkcity News

Breaking News

Sunday, 24 March 2019

कांग्रेस की किसान विरोधी नीति से किसान परेशान : प्रभुलाल सैनी

लालच देकर किसानों को भ्रमित करने का काम कर रही है कांग्रेस
गहलोत सरकार में नहीं हो पा रहा है किसानों का प्रमाणीकरण

प्रदेश के एक भी किसान को नहीं मिला लाभ: प्रभुलाल सैनी
जयपुर, 24 मार्च, 2019। पूर्व कृषि मंत्री प्रभुलाल सैनी ने कहा कि प्रदेश में अनुमानित 50 लाख से अधिक लघु सीमान्त किसान है, जो कि ‘‘प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना’’ के तहत पात्र हैं। इन किसानों को इस योजना के तहत सालाना 6 हजार रूपये की सहायता मिलनी थी, लेकिन गहलोत सरकार की किसान विरोधी मानसिकता के चलते किसान इस सहायता से वंचित रह चुके है और हाल यह है कि प्रशासनिक अधिकारियों द्वारा भी किसानों का प्रमाणीकरण करने में टालमटोल करने की स्थिति बरकरार है। अधिकारी आॅफिस में बैठकर आवेदनों को निरस्त करने में जुटे है, जो कि सरकार की ओछी मानसिकता को दर्शाता है।

सैनी ने कहा कि किसानों के लिए भाजपा द्वारा की गई घोषणा पर करीब 32 लाख किसानों ने ई-मित्र के माध्यम से आवेदन किया था और सरकार की उदासीनता के चलते हाल यह है कि यह आवेदन जिला कलेक्टर कार्यालयों में अटके हुए है, जिसके चलते प्रदेश के एक भी किसान को अभी तक इस योजना का लाभ नहीं मिल पाया है। कांग्रेस सरकार ने खानापूर्ति करते हुए 32 हजार किसानों के आवेदनों की तस्दीक करवायी, लेकिन उनमें भी जानबूझकर खामियाँ छोड़ी गई। कांग्रेस सरकार के निर्देशों के कारण सरकारी कर्मचारी प्रक्रिया को रोक कर बैठे है और सभी कलेक्टर कार्यालयों में सत्यापन के लिए आई फाइलों का अम्बार लगा हुआ है।

सैनी ने कहा कि भाजपा सरकार द्वारा चलायी गई योजनाओं का किसानों को लाभ  ना मिल जाये, के चक्कर में राज्य के 50 लाख किसान परिवारों के साथ में गहलोत सरकार अन्याय कर उन्हें वंचित रख रही है।

सैनी ने कांग्रेस सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि कांग्रेस सरकार किसानों के लाभ की बात को राजनीति से जोड़कर उन्हें नुकसान पहुँचा रही है। विधानसभा चुनाव के दौरान राहुल गाँधी ने चुनावी सभा में किसानों की कर्जमाफी की घोषणा करते हुए कहा था कि कांग्रेस की सरकार बनते ही 10 दिन में किसानों का कर्जा माफ कर दिया जायेगा। लेकिन सरकार ने वादा खिलाफी करते हुए किसानों का नाममात्र का ही कर्जा माफ किया गया है और राजस्थान का किसान कांग्रेस की किसान विरोधी नीति को अच्छी तरह समझ चुका है तथा अपने आपको ठगा सा महसूस कर रहा है।
 

No comments:

Post a comment

Pages