आराध्य देव गोविंद देवजी मंदिर में खेली फूलों की होली - Pinkcity News

Breaking News

Sunday, 17 March 2019

आराध्य देव गोविंद देवजी मंदिर में खेली फूलों की होली

  

जयपुर। आराध्य देव गोविंद देवजी मंदिर में मनाए जा रहे फागोत्सव के अन्तर्गत रविवार को बाल व्यास श्रीकांत शर्मा ने भजनों की ऐसी सरिता प्रवाहित की श्रद्धालु उसमें डूबते ही चले गए। बांसुरी की तान के साथ ढप की थाप की जुगलबंदी ने फूटे फाल्गुनी सुरों ने श्रद्धालुओं को अंत तक बांधे रखा। फूलों की होली आकर्षण का केन्द्र रही। कृष्ण  कन्हैया और राधाजी के स्वरुप बने कलाकारों ने भजनों पर नृत्य की ऐसी मनोरम प्रस्तुतियां दीं कि उपस्थित श्रद्धालु भी नाचने का मजबूर हो गए। श्रीकांत शर्मा ने फागण गोविंद को महीनो सगला मिलकर आज्यो रे... चाले फागण की बयार... चालो-चालो रे साथीड़ा आयो फागण मास..., आई होली...., पसंद आ गया मुझे होली में गोविंद पसंद आ गया..., होली खेल रहे नंदलाल गोकुल की कुंज गली में..., उडत अबीर सुहावनी जी नंदलाल के द्वार...,श्याम होली खेलण न आया...., मतवालो फाग आयो...जैसे फाल्गुनी भजन सुनाए।
मंदिर महंत अंजन कुमार गोस्वामी, प्रबंधक मानस गोस्वामी ने कलाकारों और अतिथियों का साफा और दुपट्टा पहनाकर स्वागत किया। परिवहन मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास, वरिष्ठ पत्रकार गोपाल शर्मा, महामंडलेश्वर पुरुषोत्तम भारती, पं.सुरेश मिश्रा, राजीव अरोड़ा, महंत संजय गोस्वामी, धर्माचार्य विजय शंकर पांडेय सहित अनेक विशिष्टजन उपस्थित थे।
एकादशी तिथि और रविवार का मेल होने से मंदिर में श्रद्धालुओं की भीड़ के कारण कलाकारों का अपनी प्रस्तुतियां देने में परेशानी भी हुई। एकादशी पर महिलाएं बाल गोपाल लेकर पहुंची। मंदिर प्रबंधक मानस गोस्वामी ने बताया कि 19 मार्च को होली पद भजन अमृत वर्षा अनुष्ठान होगा। कोलकाता के पंडित माली राम शर्मा दोपहर एक से शाम 5 बजे तक होली के पदों का गायन करेंगे। 20 मार्च को मंदिर प्रांगण में गुलाल होली खेली जाएगी। यह आयोजन राजभोग झांकी के बाद होगा। 20 मार्च को ही श्री महाप्रभु चैतन्य देव जयंती मनाई जाएगी।

No comments:

Post a comment

Pages